पूर्णिया। माध्यमिक व उच्च माध्यमिक स्कूलों के छात्रों को कंप्यूटर की शिक्षा नहीं मिल रही है।

कंप्यूटर की शिक्षा उच्च विद्यालय स्तर पर वषरें पूर्व सरकार द्वारा शुरु की गई थी, लेकिन प्रशासनिक व विभागीय उदासीनता, प्रर्याप्त जागरूकता के अभाव में यह योजना अपने उद्देश्य को पूरा कर पाने में सफल नहीं हो पाई है। करीब 12 साल पूर्व ठाकुर उच्च विद्यालय खूंट में तत्कालीन विधायक कोष से पाच कंप्यूटर दिए गए थे। जो बेकार हो गए। 2013 में बेलट्रान कंपनी के द्वारा जिले के सभी 20 माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों को कंप्यूटर मुहैया कराए गए थे। इसमें उच्च विद्यालय खूंट को कंपनी ने 11 कंप्यूटर दिए गए थे। उसी समय से ये सारे कंपयूटर यहा एक कमरे में धूल फांक रहे हैं। इसी प्रकार चोपड़ा आदर्श मध्य विद्यालय चोपड़ा रामनगर में भी करीब आधा दर्जन कंप्यूटर बेकार साबित हो रहे हैं। करीब एक दशक पूर्व इस विद्यालय को प्राप्त इन कंप्यूटरों से आजतक एक भी छात्र लाभांवित नहीं हो सका है। छात्रों से मिली जानकारी अनुसार सभी कंप्यूटर बेकार पड़े हैं। इसका आशिक रूप से भी हमलोगों को लाभ नहीं मिल रहा है। स्कूल प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार विद्यालय में कंप्यूटर लगने के बाद कुछ दिनों तक कंप्यूटर प्रशिक्षक पूर्णिया से आते रहे, लेकिन कुछ दिनों बाद उनका भी आना-जाना बंद हो गया और तब से कंप्यूटर एक कमरे में बंद हैं। छात्रों ने बताया कि हमलोगों ने कंप्यूटर का मुंह तक नहीं देखा है।

प्रधानाध्यापक नरेंद्र कुमार ने पूछने पर बताया कि प्रशिक्षक के अभाव में छात्र कंप्यूटर शिक्षा से वंचित हैं। विद्यालय के एक शिक्षक को विभाग के द्वारा कंप्यूटर कक्षा के संचालन हेतु प्रशिक्षण भी दिया गया था। यदा-कदा वे छात्रों को इसकी जानकारी देते हैं। अनियमित रूप से लगने वाली कक्षाओं की वजह से बच्चे उदासीन बने हुए हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप