संस, सरसी (पूर्णिया)। सावन माह की पूर्णिमा को धीमेश्वर धाम में जल चढ़ाने वाले कांवरिया की सुविधा के लिए स्थानीय थाना क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर सेवा शिविर का आयोजन किया गया। शिवभक्त श्रद्धालु मनिहारी स्थित उत्तरवाहिनी गंगा से जल भरकर 97 किलोमीटर की पैदल यात्रा तय कर सावन माह की पूर्णिमा के दिन धीमेश्वर धाम में जल चढ़ाते हैं । पूरे दिन पूर्णिया सहरसा एनएच 107 मार्ग पैदल कांवरिया के बोल बम के नारों से गुंजायमान रहा। इन कांवरियों की सुविधा के लिए सरसी थाना परिसर में स्थानीय नागरिकों द्वारा सेवा शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें कांवरिया के लिए शरबत, गर्म पानी, ठंडे पानी की फुहार, फल, दवाई एवं भोजन का प्रबंध किया गया था । यहां शिविर का आयोजन स्थानीय नागरिक एवं सरसी थाना पुलिस के सहयोग से लगाई गई। स्थानीय थाना परिसर में सेवा समिति के सदस्यों द्वारा विशाल पंडाल का निर्माण करवाया गया जिसमें कांवरिया के बैठने हेतु कुर्सी एवं कावर रखने हेतु जगह जगह बांस से बनी झूले की व्यवस्था की गई थी। भोजन की व्यवस्था की व्यवस्था समाजसेवी महेंद्र प्रसाद गुप्ता एवं दीपू जैन के यहां आयोजित थी। जिसमें हजारों की संख्या में कांवरिया द्वारा भोजन ग्रहण किया गया। इसके अतिरिक्त समाजसेवी महेंद्र प्रसाद गुप्ता के सौजन्य से ब्रजेश साउंड सरसी बाजार द्वारा भक्ति संगीत की व्यवस्था की गई। जिसमें भगवान भोलेनाथ से संबंधित भजन का गायन रानी मनजीत कौर द्वारा किया गया। उनके द्वारा गाए हमार जोगिया के हमर भंगिया के.. जीत पर कांवरिया झूम उठे तथा जय धीमेश्वर धाम के नारे लगाने लगे । सरसी स्थित कांवरिया सेवा शिविर के मुख्य कार्यकर्ता दीपू जैन, अखिलेश सिंह, राकेश जैन, रिकू सिंह, बाबाजी सिंह, आजाद सिंह मझुवा प्रेम राज पंचायत के मुखिया राजीव रंजन उर्फ पिकू शाह, देवब्रत सिंह उर्फ सोनू सिंह, वासुकि सिंह, छोटू झा, अमर सिंह, मंगल सिंह, सूरज सिंह, राजेश सिंह, बजरंग सिंह , अमित यादव, संगम आनंद, संजीव मिश्रा इत्यादि समाजसेवियों ने कांवरिया सेवा शिविर में बढ़-चढ़कर सहयोग किया । गेरुआ वस्त्र धारी कांवरिया जो बृहस्पतिवार को धीमेश्वर धाम के पट खुलते ही भगवान शिव को जल अर्पण करेंगे उन में काफी उत्साह एवं जोश देखते बनता था। उन पर 97 किलोमीटर पैदल यात्रा की खुमारी नजर नहीं आ रही थी। बताते चलें कि हजारों की संख्या में आए पैदल यात्री कावरिया बुधवार की रात्रि कुशहा स्थित काली मंदिर एवं वहां के नजदीकी स्कूल में रात्रि निवास करेंगे तथा अहले सुबह धीमेश्वर धाम मंदिर में भगवान भोलेनाथ के शिवलिग पर जल अर्पण करेगे । कांवरिया की सुविधा के लिए बनाए गए सेवा शिविर की विधि व्यवस्था की देखरेख में थानाध्यक्ष एम ए हैदरी के नेतृत्व में पुलिस तत्पर दिखे।

Edited By: Jagran