जागरण संवाददाता,पूर्णिया। राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल गलत कारणों से चर्चा के केंद्र में रहता है। दवा अन्य मेडिकल सुविधा के अभाव में मरीजों की परेशानी की बात बराबर सामने आती है। इन दिनों दो दिनों की बारिश ने अस्पताल परिसर पानी में डूब गया है। तीमारदारों को खासी मुश्किल हो रही है। पानी से डूबे परिसर में विडंबन यह लोग एक बूंद -बूंद को तरस रहे हैं। पीने के पानी की अस्पताल में व्यवस्था नहीं है। परिसर का चापाकल पानी में डूब चुका है। ओपीडी मरीज हो या भर्ती मरीज पूरी व्यवस्था ही चौपट हो गई है। चिकित्सक और अन्य अस्पताल कर्मी को पेयजल के लिए अस्पताल परिसर के बाहर खरीदकर पानी पीनी पड़ती है। दवा के लिए अस्पताल परिसर के बाहर जाना होता है। कोई जांच भी कराना हो अस्पताल परिसर के बाहर निकलना पड़ता है। परिसर में जल निकासी की सुविधा नहीं रहने से बरसात का पानी जमा है मरीज समेत तीमारदार भी परेशान है। ओपीडी में कर्मियों और चिकित्सक को डियूटी के लिए आने -जाने में परेशानी हो रही है। मेडिकल वार्ड, महिला वार्ड, इमरजेंसी और ओपीडी जाने के रास्ते में जल जमाव हो गया है।

-------------------------------------------------

ककरजान मजरा में बिजली पोल से गिरा मिस्त्री जख्मी

संस,हरदा (पूर्णिया) : मरंगा सहायक थाना क्षेत्र के मजरा ककरजान में बिजली मरम्मत कार्य करने के दौरान बिजली मिस्त्री पोल से गिर गया। जिससे मिस्त्री का पैर व उंगली जख्मी हो गया। मजरा पंचायत के ककरजान में बिजली पोल व तार का मरम्मत कार्य कर रहे रहुआ के स्व,नंद लाल यादव के पुत्र पुतुल यादव बिजली पोल से गिर जाने से पैर जख्मी हो गया। स्थानीय लोगों के द्वारा जख्मी मिस्त्री को इलाज हेतु अस्पताल पहुंचाया गया।ज्ञात हो कि दो दिन पूर्व आंधी तूफान से क्षेत्र में कई जगह बिजली पोल व तार टूट गया है।

Edited By: Jagran