जागरण संवाददाता, पूर्णिया। सूर्य के उत्तरायण होने के साथ उसकी किरणों की चमक बढ़ गई है जिसका ताप लोगों को ठंड से राहत दे रहा है। लेकिन उत्तर-पश्चिमी सर्द हवा लगातार न्यूनतम तापमान में गिरावट ला रहा है। शनिवार को भी न्यूनतम तापमान गिरकर 11 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। हालांकि तेज धूप के कारण अधिकतम तापमान में इजाफा हुआ है तथा यह बढ़कर 23 डिग्री सेल्सियस गया। पूर्णिया मौसम केंद्र के प्रभारी एसके सुमन के अनुसार मौसम का रूख अभी तीन-चार दिनों तक ऐसा ही बना रहेगा। दिन में धूप से राहत मिलेगी लेकिन आसमान साफ होने के कारण न्यूनतम तापमान में गिरावट होगी। उन्होंने पूर्वानुमान में बताया है कि रविवार को न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे जा सकता है।

मकर से विषुवत रेखा की ओर बढ़ रहा सूरज

मकर संक्रांति के बाद सूर्य उत्तरायण हो गया है। सूर्य अब मकर रेखा से विषुवत रेखा की ओर बढ़ रहा है जिससे उसकी किरणें पृथ्वी पर सीधी आने लगी हैं। यही कारण है कि सूर्य के प्रकाश में गर्मी बढ़ गई है। शनिवार को भी सूर्य की सीधी किरणें धरती पर आईं। शनिवार को सुबह से ही मौसम का रूख बदला हुआ था। अन्य दिनों की अपेक्षा जल्द सूर्य के दर्शन लोगों को हुए। हालांकि कई लोगों ने शनिवार को भी मकर संक्रांति का त्योहार मनाया तथा सूर्य को अ‌र्य्य प्रदान किया। सुबह से सूर्य की चमक तेज थी तथा उसकी गर्मी लोगों को राहत प्रदान कर रही थी। लगभग

एक सप्ताह से सर्दी झेल रहे लोगों को इस तपती धूप ने राहत प्रदान की। लोग जल्द घरों से बाहर निकले तथा खुले स्थानों पर खिली धूप का आनंद लिया। कुछ लोग अपने घरों की छत पर धूप सेंकते नजर आए तो कुछ ने मैदान का रूख किया। जिन लोगों ने मकर संक्रांति का त्योहार शनिवार को मनाया वे लोग परिवार संग घूमने बाहर भी निकले। शाम तक मौसम में गमी बनी रही लेकिन दिन ढलते ही फिर सर्द हवा ने ठंड बढ़ा दी।

10 डिग्री से. से नीचे जाएगा तापमान

मौसम केंद्र प्रभारी एसके सुमन ने बताया कि ज्यो-ज्यों सूर्य उत्तरायण हो रहा है वायुमंडल का प्रेशर बढ़ रहा है। यही वजह है कि आसमान बिल्कुल साफ हो गया है। लेकिन न्यूनतम तापमान गिरने का यही कारण भी बन गया है। दरअसल आसमान साफ होने की वजह से रात में धरती से विकिरण की प्रक्रिया तेज हो जाती है। दिन भर सूर्य से जितनी ताप धरती ग्रहण करती है, साफ आकाश की वजह से वह सभी रात में वायुमंडल में लौट जाती है और धरती पर ठंड बढ जाती है। यहीं वजह है कत शनिवार को भी न्यूनतम तापमान में हल्की गिरावट आई। लेकिन आने वाले दो-तीन दिनों में यह अधिक गिरेगा। रविवार को न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे जाने का अनुमान है। यह सिलसिला तीन-चार दिनों तक चलेगा, इसके बाद फिर आसमान में बादल छाएंगे तथा मौसम में परिवर्तन होने की संभावना बनी हुई है।

Edited By: Jagran