पूर्णिया। नगर निगम के प्रशासक के रुप में प्रमंडलीय आयुक्त राहुल रंजन महिवाल ने शनिवार को पहली बार नगर आयुक्त जीउत सिंह सहित अन्य अधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक की। नगर निगम कार्यालय में आयोजित इस बैठक के दौरान उन्होंने निगम द्वारा संचालित व लंबित योजनाओं के साथ विभिन्न मदों में उपलब्ध राशि की भी गहन समीक्षा की और इस आलोक में आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया। लंबित योजनाओं के क्रियान्वयन में जन उपयोगिता को आधार बनाने पर आयुक्त का जोर रहा। उन्होंने आम जन के हित व उपयोगिता को योजनाओं को क्रियान्वयन में प्राथमिकता देने का निर्देश मौजूद अधिकारियों को दिया। वार्ड आयुक्तों द्वारा दी गई इन योजनाओं की उपयोगिता धरातल स्तर पर परखने बाद उनके क्रियान्वयन का निर्देश दिया गया।

-----------

राशि की उपलब्धता बगैर पारित योजनाओं पर भी हुई चर्चा समीक्षा बैठक के दौरान राशि की उपलब्धता बगैर पारित योजनाओं पर भी चर्चा हुई। इस मामले में नगर आयुक्त जीउत सिंह ने पूरी स्थिति से प्रमंडलीय आयुक्त को अवगत कराया। साथ ही निबंधन मद की राशि आने के बाद ही इन योजनाओं का क्रियान्वयन संभव होने की जानकारी दी। बता दें कि अंतिम दौर में बोर्ड द्वारा कई ऐसी योजनाएं भी पारित कर दी थी, जिसके लिए निगम के पास फंड ही उपलब्ध नहीं था।

-----------

दस वार्ड में जल्द शुरू हो जाएगी जलापूर्ति

बैठक के दौरान शहर में हर घर नल का जल योजना की भी गहन समीक्षा हुई। इस दौरान तकनीकी अधिकारियों से योजना की अद्यतन स्थिति की जानकारी प्रमंडलीय आयुक्त द्वारा ली गई। बैठक में बताया गया कि दस वार्डों में कार्य लगभग पूर्ण हो चुका है। टेस्टिग का कार्य चल रहा है। इन वार्डों में जल्द ही जलापूर्ति भी आरंभ हो जाएगी। प्रमंडलीय आयुक्त ने अन्य वार्डों में भी कार्य में अपेक्षित प्रगति लाने का निर्देश दिया।

-------------

साफ-सफाई व्यवस्था की भी आयुक्त ने ली जानकारी शहर में मौजूदा साफ-सफाई की व्यवस्था व इसके और कारगर बनाने को लेकर उठाए जा रहे कदम की जानकारी भी प्रमंडलीय आयुक्त द्वारा ली गई। बैठक में बताया गया कि शहर के कुल 46 में से 36 वार्डों की साफ-सफाई के लिए निविदा निकाली गई थी। इसकी आवश्यक प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है। दो-तीन दिनों में इसे फाइनल कर दिया जाएगा। शेष दस वार्डों में नगर निगम के स्तर से ही साफ-सफाई का कार्य किया जाएगा। बैठक में निगम के सभी तकनीकी अधिकारी भी मौजूद थे।

Edited By: Jagran