पूर्णिया। यातायात के बदले सख्त नियमों के बाद जिले में परिवहन विभाग व यातायात पुलिस की सख्ती को लेकर एक सितंबर से दो दिसंबर तक महज तीन माह में 15,351 लोगों का एलएल ( लर्निंग लाइसेंस) और डीएल (ड्राइविंग लाइसेंस) बनाया गया है। इसमें लर्निंग लाइसेंस बनाने वालों की संख्या 9,313 और परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वालों की संख्या 6,062 है। वही नए नियम के लागू होने से पहले एक जनवरी से 31 अगस्त तक आठ माह में जिले में महज 15,551 लोगों का एलएल और डीएल बनाया गया था। जिसमें लर्निंग लाइसेंस बनाने वालों की संख्या 6,268 व परमानेंट ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वालों की संख्या 9.037 है। एलएल व डीएल बनाने को लेकर आठ माह में परिवहन विभाग को 2.2 करोड़ रुपये राजस्व प्राप्त हुए थे। जबकि नए नियमों के सख्ती से लागू होने के साथ ही महज तीन माह में एक सितंबर से दो दिसंबर तक 1.81 करोड़ रुपये राजस्व प्राप्त हुए हैं। जिले में जनवरी से दो दिसंबर तक डीएल और एलएल से 3.83 लाख राजस्व प्राप्त हो चुके हैं।

नवंबर माह में परिवहन विभाग ने वसूला 12 करोड़ जुर्माना

नए नियमों की सख्ती और बढ़े जुर्माने के बाद जिले से परिवहन विभाग द्वारा नवंबर माह में समय-समय पर जाच अभियान चलाकर परिवहन नियमों की अनदेखी कर रहे वाहन चालकों से दंड स्वरूप 12 करोड़ रुपये राजस्व वसूल किये हैं। यातायात नियमों की अनदेखी करने वाले वाहन मालिकों से ओवरलोडिंग, फिटनेस, रजिस्ट्रेशन, पॉल्यूशन, इंश्योरेंस आदि फेल होने को लेकर परिवहन विभाग ने जुर्माना वसूल किया है। बता दें कि यातायात नियमों में बदलाव के बाद से जुर्माने में भी भारी बढ़ोतरी की गई है। खास तौर पर ओवरलोडिंग, पॉल्यूशन और इंश्योरेंस के जुर्माने को कई गुना बढ़ा दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस