पूर्णिया। एआइएमआइएम (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिममीन) के बायसी विधायक सैयद रुकनुद्दीन ने कहा कि जाप सुप्रीमो सह पूर्व सांसद पप्पू यादव को गिरफ्तार कर जेल भेजे जाने की कार्रवाई एक साजिश के तहत हुई है। भाजपा ने साजिश के तहत अपनी नाकामी को छिपाने के लिए पप्पू यादव जैसे गरीबों के मसीहा, आवाम के हर दुख मुसीबतों में शरीक होकर कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार करवा कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ओछी हरकत की है, जो निदनीय है। नीतीश कुमार रबर स्टांप मुख्यमंत्री नजर आ रहे हैं। यही रवैया रहा तो बिहार की जनता माफ नहीं करेगी।

अभी पप्पू यादव लोगों को मसीहा बनकर दवाई, भोजन, एंबुलेंस का इंतजाम जरूरतमंद के लिए करवा रहे थे।हालांकि प्रदेश की जिम्मेदारी सरकार की होती है, वह जनता के लिए सहूलियत का उपाय करे। जहां सरकार को पप्पू यादव के इस कार्य की विपदा की इस घड़ी में सराहना करनी चाहिए थी, लेकिन राजनीति के चक्कर मे चुनौती समझकर केंद्र सरकार के झूठी शान को बनाए रखने के लिए पप्पू यादव को राज्य एवं केंद्र के द्वारा बलि का बकरा बनाया गया। मेरा राजनीतिक विरोध पप्पू यादव से हो सकता है पर इस समय सरकार के स्वास्थ्य मंत्री घर में दुबक कर बैठे हों, केंद्र और राज्य पूरी तरह से निष्क्रिय हो, ऐसे समय में पप्पू यादव ने सरकार की नाकामी को उजागर करने के कारण पप्पू यादव को जेल जाना पड़ता है। ऐसे वक्त में ओबैसी की एआइएमआइएम पार्टी की पूरी बिहार यूनिट पप्पू यादव के साथ खड़ी है।