पूर्णिया : प्रखंड क्षेत्र के किस्मत कालसर गाव में शुक्रवार को तीन बजे सुबह ग्रामीणों ने जनवितरण प्रणाली का 40 बोरा चावल सहित चावल लदे पिकअप गाड़ी को पकड़ लिया। देर रात जब लोगों को लगा कि कोई वाहन जनवितरण प्रणाली विक्रेता के घर के तरफ जा रहा है तो लोग वाहन लौटने का इंतजार करने लगे। लगभग तीन बजे के करीब उक्त वाहन वापस आया तो ग्रामीणों ने रोक चालक से पूछताछ की। इस दौरान ग्रामीणों ने वाहन में लदे बोरा को चेक किया तो पता चला कि बोरा में जविप्र का चावल लोड है। इसके बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना सदर एसडीओ, प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी व मुफसिल थाना को दी। घटना की जानकारी मिलते ही पदाधिकारी एवं मुफस्सिल थाना के पुलिस बल घटना स्थल पर पहुंच कर चावल समेत पिकअप वैन व चालक को हिरासत में ले लिया। ग्रामीणों ने बताया कि पीडीएस का चावल जविप्र के दुकानदार के पति के द्वारा बेचने के लिए गुलाबबाग ले जाया जा रहा था। जब हमलोग अपना राशन लेने जाते हैं तो हमें किसी माह का अनाज देता है। तो कभी अनाज कम दिया जाता है। कार्ड लेकर दो तीन माह के कॉलम को भर दिया जाता है। ग्रामीणों मे वीरेंद्र चौहान, अनूप ऋषि, खेताराम ऋषि, मो मतीन, सोनेलाल चौहान, सुखदेव ऋषि, देव नारायण चौहान, सुवोध ठाकुर, राम विलाश चौहान, रमेश चौहान, प्रदुम चौहान चंद्रिका चौहान, मीना देवी, रामस्वरूप चौहान, गीता देवी, केसरी देवी ने बताया कि जविप्र विक्रेता तिलकेसरी देवी है, लेकिन उनका सारा काम उनका पति देवनारायण चौहान के द्वारा किया जाता है।

वहीं एडीएसओ अवधेश मिश्रा ने कहा कि वाहन के चालक एवं ग्रामीणों के बयान पर मामले को लेकर प्राथमिक दर्ज की जा रही है। संबधित जविप्र दुकानदार का लाइसेंस रद्द किया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप