पूर्णिया। थाना के हाजत से एक अभियुक्त के भागने के मामले में जिलाधिकारी ने धमदाहा थाना के एक चौकीदार को निलंबित कर दिया है। बताते चले कि धमदाहा थाना कांड संख्या 83/18 के प्राथमिकी अभियुक्त ढोकवा गांव निवासी मु. मुन्ना को धमदाहा पुलिस ने 11 अप्रैल 2018 को शराब के नशे में धुत होकर उत्पात मचाते हुए  गिरफ्तार कर थाना लाया था। जहां जेल भेजने से पूर्व उसे हाजत में बंद करके रखा गया था जहां से वह फरार हो गया था। जिसके बाद एसपी ने इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्कालीन थानाध्यक्ष टीपी ¨सह को इस मामले की जांच करने का आदेश दिया था। जांच के बाद थानाध्यक्ष ने जांच प्रतिवेदन एसपी को सौंपा था। थानाध्यक्ष द्वारा मामले की जांच के दौरान चौकीदार प्रेमलाल मुनि की लापरवाही सामने आई थी। जिसमें चौकीदार प्रेमलाल मुनि ने बिना किसी पदाधिकारी की अनुमति लिए बिना किसी को जानकारी दिए थाना हाजत में बंद अभियुक्त को खाना खिलाने के लिए बिना हथकड़ी लगाए बाहर निकाला था। जिस कारण मौका देखते ही अभियुक्त मु. मुन्ना थाना से फरार हो गया था। इस मामले को पुलिस अधीक्षक ने बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद अधिनियम 2016 के अभियुक्त का न्यायिक अभिरक्षा से फरार हो जाना के मामले को चौकीदार की अनुशासनहीनता स्वेच्छाचारी मनमानेपन गंभीर लापरवाही एवं संदिग्ध आचरण का परिचायक मानते हुए जिलाधिकारी को चौकीदार को निलंबित करते हुए विभागीय कार्रवाई प्रारंभ करने का अनुरोध किया था। जिसके बाद जिलाधिकारी ने उक्त चौकीदार को निलंबित कर दिया है। साथ ही निलंबन अवधि के दौरान चौकीदार का मुख्यालय अनुमंडल कार्यालय बायसी निर्धारित किया गया है।

Posted By: Jagran