पटना, अंकिता भारद्वाज।  मेरी बेटी अगर इस व्यक्ति के साथ गई तो मैं इसी कार के नीचे आकर अपनी जान दे दूंगी। मेरी बेटी उसके साथ सुरक्षित नहीं रहेगी। बेटी ने अपनी इच्छा से शादी की है। उसमें इतनी समझ नहीं है। हमें लड़का और उसका परिवार पसंद नहीं है। सोमवार की दोपहर से देर शाम तक महिला थाने में हाईवोल्टेज ड्रामा होता रहा। बेटी की अंतरजातीय शादी से नाखुश मां ने महिला थाने में जमकर हंगामा किया। परिवार के अन्‍य लोगों ने भी विरोध जताया। हालांकि उनका हंगामा किसी काम नहीं आया। पुलिस ने नवदंपती को थाने की सुरक्षा में विदा करा दिया।

बेटी का तलाक करवा दीजिए

महिला का कहना था कि उसकी बेटी ने पांच महीने पहले मधुबनी जिले के रहने वाले एक लड़के से प्रेम विवाह कर लिया था।  जिसके बाद ससुराल वाले उसे प्रताड़‍ित कर रहे थे। इस कारण बेटी मायके आ गई थी। अब उसके ससुराल वाले उसे जबरदस्ती मधुबनी ले जाना चाहते हैं। लेकिन वे ऐसा नहीं होने देंगी। वह कह रही थीं कि बेटी का तलाक करवाया जाए। बताया जाता है कि मधुबनी जिले के युवक और पटना की युवती ने अंतरजातीय विवाह किया था। शादी के बाद युवती अपने पति के साथ मधुबनी चली गई। लेकिन किसी बात पर दंपती में तकरार हो गई तो युवती मायके चली आई। तब से वह पटना में ही थी। समय बीतने के साथ गुस्‍सा कम हुआ। मान-मनौव्‍वल का सिलसिला चला। इसके बाद सोमवार को युवक अपने माता-पिता के साथ पत्‍नी की विदाई कराने पटना पहुंचा। लेकिन लड़की के यहां पहुंचते ही विवाद शुरू हो गया।

महिला थाने में हुआ हाईवोल्‍टेज ड्रामा

मामला इतना बिगड़ गया कि सभी को महिला थाने पहुंचना पड़ा। वहां प्रभारी थानाध्‍यक्ष कुमारी अर्चना ने पहले दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन लड़की वाले विदाई के पक्ष में नहींं थे। उनका कहना था कि वे लोग उसे मार डालेंगे। इसके बाद प्रभारी थानाध्‍यक्ष ने युवती से पूछा कि वह क्‍या करना चाहती है। उसने बताया कि वह पति के साथ रहेगी। लेकिन लड़की के चाचा और उसकी मां ने कड़ा विरोध किया। उनका कहना था कि इसे उनलोगों ने काफी टार्चर किया है। अब इसकी जान ले लेंगे। लेकिन युवती पति के साथ जाने पर अड़ी थी। प्रभारी थानाध्‍यक्ष ने युवक-युवती को जाने को कहा।

दामाद की कार के आगे लेट गई युवती की मां 

जैसे ही वे लोग कार से चले कि लड़की की मां गाड़ी के आगे लेट गई। वह कह रही थी वे किसी कीमत पर नहीं जाने देंगी। उनकी लाश पर से गाड़ी गुजरेगी। इस दौरान काफी देर तक थाना परिसर में हाईवोल्‍टेज ड्रामा होता रहा। किसी तरह महिला को कार के आगे  से हटाया गया। इसके बाद बेटे-बहू को लेकर परिवारवाले रवाना हो गए। महिला थाना प्रभारी कुमारी अंचला ने बताया कि युवक और युवती से बातचीत की गई। युवती अपने पति के साथ जाने को तैयार थी। परिवार वाले उसके इस फैसले से खुश नहीं थे। वो लगातार इस बात का दबाव बना रहे थे कि उसका फैसला गलत है। अंत में थाने की सुरक्षा में दोनों को विदा करवा दिया गया।

Edited By: Vyas Chandra