पटना, बिहार ऑनलाइन डेस्‍क। World Bicycle Day: आज विश्‍व साइकिल दिवस है। ऐसे में राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के साइकिल चालन (Bicycle Ride) की याद भला क्‍यूं न आए? शादी के कुछ दिनों बाद उनकी पत्‍नी ऐश्‍वर्या राय (Aishwarya Rai) संग एक रोमांटिक तस्‍वीर चर्चा में रही थी। उनका साइकिल प्रेम ऐसा कि एक बार पटना की सड़क पर साइकिल चलाते गिर पड़े थे। वे आए दिन साइकिल से दिखते रहे हैं। एक बात वे वैशाली की दलित बस्‍ती में भी साइकिल से ही पहुंच गए थे।

याद आइ पत्‍नी ऐश्‍वर्या संग साइकिल पर रोमांटिक तस्‍वीर

बात तेज प्रताप यादव की साइकिल की हो तो पत्‍नी ऐश्‍वर्या संग साइकिल पर दोनों की रोमांटिक तस्‍वीर याद आ जाती है। शादी के बाद पत्‍नी संग तेज प्रताप की यह पहली तस्‍वीर थी, जिसे उन्‍होंने खुद शेयर किया था। बीते 12 मई 2018 को शादी के कुछ ही दिनों बाद यह तस्‍वीर सामने आई थी। इसमें तेज प्रताप व ऐश्‍वर्या एक-दूसरे की आंखों में आखें डाले साइकिल की सैर करते दिखे थे। इस तस्‍वीर को सोशल मीडिया पर लोगों ने खूब पसंद किया। हालांकि, छह महीने के भीतर ही दोनों की शादी में तलाक (Divorce) के मुकदमे का दुखद मोड़ आ गया। फिलहाल, तेज प्रताप ने ऐश्‍वर्या के खिलाफ तलाक का मुकदमा कर रखा है। ऐश्‍वर्या अब अपने पिता चंद्रिका राय (Chandrika Rai) के साथ रहतीं हैं।

बीच सड़क पर साइकिल से गिर पड़े थे लालू के लाल

साल 2018 में आरजेडी की साइकिल रैली (RJD Bicycle Rally) का निमंत्रण देने निकले तेज प्रताप यादव की साइकिल दुर्घटना (Cycle Accident) की भी याद आ जाती है। हालांकि, तब सड़क पर गिरे तेज प्रताप ने कहा था कि वे स्पोर्ट्समैन हैं और उन्‍हें गिरने से कोई फर्क नहीं पड़ता।

स्कॉर्ट गाड़ी से रेस लगाते गिर पड़े थे तेज प्रताप

घटना 26 जुलाई 2018 की है। दो दिनों बाद 28 जुलाई को शुरू हो रही आरजेडी की साइकिल रैली के लिए लोगों को निमंत्रण देने के लिए तेज प्रताप यादव साइकिल से ही निकले थे। साथ में समर्थकों का हुजूम भी था। इसी दौरान पटना के ईको पार्क के निकट तेज प्रताप यादव अपनी स्कॉर्ट गाड़ी से रेस लगा बैठे। संतुलन बिगड़ा और वे गाड़ी से टकराकर सड़क पर गिर गए। उन्‍हें हल्की चोट आई। तब घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए तेज प्रताप ने कहा कि वे स्पोर्ट्समैन हैं, इसलिए गिरने से कोई फर्क नहीं पड़ता। वे साइकिल चलाकर दुश्मनों को ललकार रहे हैं। गिरेंगे, उठेंगे और फिर साइकिल चलाएंगे। मकसद राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को सत्ता से उखाड़ फेंकना है।

वैशाली की दलित बस्‍ती में साइकिल से ही पहुंचे

तेज प्रताप यादव बीते छह मार्च को वैशाली जिले के वैशाली के जंदाहा में एक दलित बस्ती में साइकिल से पहुंचे तथा आसपास की अन्‍य दलित बस्तियों में भी साइकिल चलाते हुए गए। उन्‍होंने दलितों का हाल जाना तथा उनके घरों में खाना भी खाया।

इसकी जानकारी उन्‍होंने अगले दिन ट्वीट कर दी थी। सात मार्च के अपने ट्वीट में तेज प्रताप ने लिखा कि जंदाहा में कल (छह मार्च को) कार्यक्रम के बाद थोड़ी भूख लगी। कुछ ही दूरी पर झोपड़ियों वाली एक दलित बस्ती दिखी। फिर, साइकिल उठाया और वहां पहुंचकर पूछा तो पता चला कि एक बहन ने मक्के की रोटी और साग बनाया है। खा कर मन अति प्रसन्न हुआ। अथाह प्यार और आशीर्वाद के लिए धन्यवाद।

अपने निराले अंदाज के लिए जाने जाते तेज प्रताप

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव वैशाली के महुआ विधानसभा से विधायक (MLA) हैं। वे महागठबंधन (Grand Alliance) की सरकार में राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री (Health Minister) रह चुके हैं। तेज प्रताप यादव बिहार की राजनीति में राजनीति में अपने निराले अंदाज के लिए जाने जाते हैं। वे कभी खाना बनाते तो कभी बांसुरी बजाते दिखते हैं। कभी राज मिस्‍त्री बन मकान बनाने लगते हैं तो कभी भगवान शिव का रूप धारण कर लेते हैं। तेज प्रताप का फिल्‍मी अवतार भी सामने आ चुका है। उनका साइकिल प्रेम भी ऐसे ही निराले अंदाज में एक है।

यह भी पढ़ें: यह कैसा अंधविश्‍वास: बिहार के एक गांव में नौ लड्डू व नौ लौंग से हो रही कोरोना माई की पूजा, जानिए

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस