पटना, आनलाइन डेस्‍क। एक सैनिक की पत्नी बिहार पहुंचते ही गायब हो गई। अब बेचारा सैनिक यूपी पुलिस से लेकर रेलवे तक मदद की गुहार लगा रहा है, लेकिन उसकी पत्नी का कुछ भी पता नहीं चल रहा है। इंदु भूषण सिंह नाम के एक सैनिक ने प्रधानमंत्री कार्यालय, रेल मंत्रालय, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, यूपी पुलिस, यूपी के डीजीपी सहित कई अधिकारियों को ट्विटर पर टैग करते हुए अपनी पूरी पीड़ा सुनाई है। सैनिक के मुताबिक उनकी पत्नी 15 दिसंबर को पूर्वा एक्सप्रेस से मुगलसराय से धनबाद के लिए चली थींीं। इसके बाद उनका कुछ भी पता नहीं चल रहा है। बताया जा रहा है कि सैनिक की पत्नी बिहार के भभुआ स्टेशन पर ट्रेन से उतरी थी। वहां सीसीटीवी कैमरे में महिला की तस्वीर कैद हुई है।

यह भी पढ़ें: शादी के बाद भी युवती प्रेमी के पास चली जाती थी, पश्चिम चंपारण निवासी पिता को यह बात अच्छी नहीं लगी

यूपी पुलिस के डीएसपी ने बताई ये बात

उत्तर प्रदेश पुलिस में डीएसपी अनिरुद्ध सिंह ने ट्वीट करते हुए बताया कि उन्होंने अपनी तरफ से इस सैनिक की मदद के लिए काफी कोशिश की। उन्होंने बताया कि सैनिक की पत्नी जैसलमेर से पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन आई थी। यहां आने के बाद महिला ने अपने दोनों बच्चों को देवर के हवाले कर दिया और ट्रेन में बैठ गई। महिला ने बताया कि उनका फोन बंद हो गया है, डिस्चार्ज हो गया है और अब वह किसी से बात नहीं कर सकेंगी। डीएसपी ने महिला का एक फोटो भी शेयर किया है, जिसमें वह किसी स्टेशन के प्लेटफार्म पर दिख रही हैं।

डीएसपी ने इस फोटो के साथ बताया है कि यह फोटो बिहार के भभुआ स्टेशन का है। इस तस्वीर में महिला अपनी पीठ पर एक बैग लिए हुए दिख रही है। इसके अलावा महिला के कंधे पर भी एक छोटा बैग टंगा है और महिला ने एक हाथ से एक ट्रॉली बैग भी पकड़ रखा है।

यह भी पढ़ें: मुकेश सहनी के बागी तेवर के बाद बड़ा सवाल, मुजफ्फरपुर की बोचहां सीट पर क्या होगा?

आप भी दे सकते हैं जानकारी

इस महिला के बारे में अगर आपको कुछ पता चलता है तो आप भी उनके पति को जानकारी दे सकते हैं। उनके पति ने ट्विटर पर अपना मोबाइल नंबर शेयर किया है। उन्होंने बताया है कि मां के नहीं होने से उनके दोनों बच्चे काफी परेशान हैं। उन्होंने अपने मोबाइल नंबर 75082 09221 पर कोई भी जानकारी देने की अपील की है। बेहतर तो यह होगा कि इस महिला को देखने पर नजदीकी थाने को सूचना देते पूरी जानकारी दें, ताकि महि‍ला की सुरक्षा भी सुनिश्चित हो सके।

Edited By: Shubh Narayan Pathak