आरा, जागरण संवाददाता। अगर आपका सामान चोरी हो जाए, तो उसके मिलने की उम्‍मीद कितनी रहती है? कितनी बार ऐसा हुआ है कि पुलिस आपके चोरी गए सामान को ढूंढकर लौटा दे? खासकर तब, जब चोरी होने वाला सामान आपका मोबाइल हो। ऐसे मामलों में तो पुलिस आवेदन तक लेने से इनकार कर देती है। भोजपुर जिले की पुलिस ने कमाल कर दिया है। जिले के एसपी विनय तिवारी के आने के बाद लोगों को सरप्राइज मिला है। दरअसल, पुलिस ने पिछले चार महीने के दौरान चोरी गए एक-दो नहीं बल्‍क‍ि पूरे 94 मोबाइल को ढूंढकर उसके असली मालिक के सुपूर्द किया है। गुरुवार की शाम भी एसपी कार्यालय में ऐसे 34 लोगों को उनके मोबाइल वापस किए गए।

भोजपुर एसपी ने बताया कि अपराध की रोकथाम के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही है। आए दिन मोबाइल फोन गुम होने उनकी चोरी, लूट, छिनतई की घटनाएं हो रही हैं। अपराधियों द्वारा ऐसे मोबाइल का उपयोग भी आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने में किया जा रहा है। संज्ञान में आते ही एक विशेष टीम का गठन कर खोए हुए मोबाइल फोन की बरामदगी के लिए लगातार छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है। विशेष टीम द्वारा सर्विलांस के जरिए तकनीकी मदद एवं संबंधित थाना के सहयोग से अभियान चार महीने के अंदर करीब 94 मल्टी मीडिया मोबाइल फोन बरामद किए जा चुके हैं। गौरतलब हो कि 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर एसपी ने इस सराहनीय अभियान की शुरुआत की थी।

इन्हें लौटाए गए मोबाइल

पुष्कर सिंह, हरेंद्र यादव, मंतोष पासवान,  राजेंद्र साह,  सत्यवीर कुमार सिंह, ताकेश्वर प्रसाद,  जय प्रकाश सिंह, दीपक कुमार, वीरेंद्र कुमार, बृज बिहारी यादव, कृष्ण कुमार,  ओम प्रकाश शर्मा,  नौशाद, दीनदयाल ङ्क्षसह, मुकेश कुमार, रितेश कुमार, ब्रजेंद्र कुमार सिंह, मो. इरफान, संजय कुमार, दीपक ठाकुर, सत्येन्द्र कुमार, ज्योतिश कुमार, दीपक प्रकाश व विनोद मेहरा आदि।

मोबाइल बरामदगी में इनकी रही सराहनीय भूमिका

टाउन इंस्पेक्टर शंभू भगत, दारोगा, मुफस्सिल सुशांत कुमार, दारोगा ,गजराजगंज चंदन कुमार,  दारोगा,टाउन थाना दीपक कुमार, दारोगा कोईलवर राजीव कुमार, डीआईयू सिपाही अमित कुमार

कब -कब स्वामियों को सुपुर्द किए गए मोबाइल

  • माह                   संख्या
  • अगस्त                   30
  • सितंबर                    30
  • नवंबर                     34