पटना, जागरण टीम। Bihar News: केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) को कई बार फोन किया। लेकिन मुख्‍यमंत्री, केंद्रीय मंत्री से बात करने के लिए उपलब्‍ध नहीं हो सके। यह दावा भाजपा सांसद विवेक ठाकुर (Vivek Thakur) ने किया है। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री से बेहद तीखा सवाल पूछा है। पूरा मामला केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के बिहार दौरे के बाद छिड़ी बयानबाजी से जुड़ा है। 

एयरपोर्ट के मामले में पिछड़ेपन के लिए सीएम को ठहराया जिम्‍मेदार 

भाजपा नेता एवं राज्यसभा सांसद विवेक ठाकुर ने कहा कि प्रगतिशील राज्य के मापदंडों में एक महत्वपूर्ण कड़ी होता है कि राज्य में कितने और किस कैटेगरी के एयरपोर्ट हैं। इस दिशा में भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संकुचित सोच के चलते बिहार काफी पीछे है। उनका लचर रवैया के कारण बिहटा में बनने वाले आधुनिकतम कैट 3 स्तर का अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट तथा केंद्र सरकार के उड़ान परियोजना के अंतर्गत बिहार में बनने वाले अन्य एयरपोर्ट अधूरा है।

ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के हवाले से नीतीश कुमार के बारे में बड़ा दावा 

विवेक ठाकुर ने कहा कि जब बिहटा एयरपोर्ट तथा उड़ान परियोजना के परिपेक्ष्य में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिलने के लिए गया तो उन्होंने अचंभित होकर कहा कि बिहार में विकास आखिर कैसे होगा? हमने 10 बार से अधिक कोशिश की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात करने की। लेकिन वे कभी फोन पर आए ही नहीं। नीतीश कुमार के इस रवैए से स्पष्ट होता है कि उन्हें बिहार के विकास से कोई वास्ता नहीं है।

बिहटा एयरपोर्ट के लिए जमीन अधिग्रहण का उठाया मसला 

विवेक ठाकुर ने कहा कि बिहटा एयरपोर्ट के निर्माण के लिए दूसरे चरण का जमीन अधिग्रहण का प्रस्ताव ढाई साल से बिहार सरकार द्वारा लंबित है, जबकि जमीन उपलब्ध है। उसी प्रकार मुजफ्फरपुर का पताही एयरपोर्ट को दोबारा स्थापित करने के लिए केंद्र ने 60 करोड़ रुपए जारी किए, किंतु स्थिति जस के तस बनी हुई है। साथ ही बिहार सरकार की उदासीनता के कारण बिहार के भागलपुर, फारबिसगंज, सबेया इत्यादि एयरपोर्ट बंद पड़े हैं।

पूर्णिया से पहले पटना में जवाब दें मुख्‍यमंत्री 

सभी एयरपोर्ट का खर्च केंद्र सरकार उठाती है, राज्य सरकार का काम सिर्फ जमीन उपलब्ध कराना होता है। नीतीश कुमार सिर्फ जमीन भी उपलब्ध नहीं करा पा रहे। इससे बड़ा विकासहीन सोच का और क्या परिचय हो सकता है। नीतीश कुमार को पूर्णिया से पहले पटना में जवाब देना होगा।

विवेक ठाकुर ने उत्‍तर प्रदेश में विकास का दिया हवाला 

विवेक ठाकुर ने कहा कि बगल के उत्तर प्रदेश में विकास की गंगा बह रही है। बौद्ध पर्यटकों के लिए कुशीनगर जैसे एयरपोर्ट हों या देश का सबसे बड़ा ज़ेवर में बन रहे अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट हो। वहां हर क्षेत्र में विकास हो रहा है। लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के फॉल्स इगो, संकुचित रवैया तथा मैं प्रथम-मेरा अहम के कारण बिहार विकास से कोसों दूर है।

बिहार को नए नेतृत्‍व की आवश्‍यकता, जनता करेगी तय 

विवेक ठाकुर ने कहा कि क्या ऐसे हीं रवैए के लिए उन्होंने नारा दिया कि, "बिहार में दिखा, भारत में दिखेगा", भगवान बचाएंगे भारत को ऐसे विकास विरोधी सोच से। भाजपा सांसद विवेक ठाकुर ने कहा कि बिहार को संकुचित व पूर्वाग्रह ग्रसित नहीं बल्कि सामूहिक और विस्तृत विकास के नेतृत्व की आवश्यकता है, जो आने वाले समय में बिहारवासी तय करेंगे।

Edited By: Shubh Narayan Pathak

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट