पटना।बिहार में महागठबंधन के प्रमुख घटक राजद और जदयू उत्तर प्रदेश में अपनी-अपनी राह चलेंगे। यह संकेत मंगलवार को जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने दिया। उन्होंने कहा कि बिहार जैसा महागठबंधन उत्तर प्रदेश में भी बने, ऐसा जरूरी नहीं है।

उत्तर प्रदेश के कई दलों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से संपर्क किया है। हमारी सोच है कि उत्तर प्रदेश में नीतीश कुमार के नेतृत्व में महागठबंधन बने। कई सामाजिक संगठनों ने भी हमसे संपर्क किया है।

सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश चुनाव में हमारा हस्तक्षेप रहेगा। हम वहां चुनाव में अपने उम्मीदवार उतारेंगे। आने वाले दिनों में नीतीश कुमार वहां राजनीतिक कार्यक्रमों में भाग लेंगे। मंगलवार को वह गाजीपुर में एक कार्यक्रम में भाग लिए हैं। मैं खुद पूर्वी उत्तर प्रदेश के विभिन्न इलाकों का दौरा करूंगा।

सूत्रों ने बताया कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के बीच पारिवारिक रिश्ता होने के कारण यह संभावना है कि राजद उत्तर प्रदेश में सपा के खिलाफ सक्रिय नहीं होगा। वहीं, बिहार चुनाव से ठीक पहले महागठबंधन से सपा के बाहर हो जाने के कारण जदयू मुलायम सिंह यादव के साथ किसी भी प्रकार के राजनीतिक तालमेल के पक्ष में नहीं है।

जदयू वहां अपना दल, पीस पार्टी एवं राष्ट्रीय लोक दल सहित कई अन्य राजनीतिक पार्टियों से संपर्क कर रहा है। कांग्रेस ने अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले चुनाव को लेकर अपना रुख अभी स्पष्ट नहीं किया है।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस