पटना [जेएनएन]। बिहार में इस साल एक्‍यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) के कारण 175 से अधिक बच्‍चों की मौत के बाद अब सियासत भी जारी है। इस मामले में राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने सीधे तौर पर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को जिम्‍मेदार ठहराते हुए उनसे इस्‍तीफा मांगा है। उन्‍होंने दो जुलाई से 'नीतीश हटाओ-भविष्य बचाओ' यात्रा निकालने की भी घोषणा की है।

'एईएस पर नीतीश ने नहीं दिया ध्‍यान'

आरएलएसपी सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि बिहार सरकार की उदासीनता के कारण एईएस से बच्चों की लगातार मौतें होती रहीं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसपर ध्यान नहीं दिया। अगर उन्‍होंने इसपर ध्यान दिया होता तो मौत के आंकड़े कम हाेते। लेकिन अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की विफलता छिपाने के लिए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे का इस्तीफा मांगा जा रहा है।

जिम्‍मेदारी लेकर इस्‍तीफा दें मुख्‍यमंत्री

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि इतने बच्‍चों की मौत की जिम्‍मेदारी लेते हुए मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को इस्‍तीफा देना चाहिए। पिछले 15 वर्षों से सत्ता में रही नीतीश सरकार ने इस बीमारी पर ध्यान नहीं दिया है।

दो जुलाई को मुजफ्फरपुर से शुरू करेंगे पदयात्रा

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि अब वे नीतीश कुमार की अंतरात्मा जगाने के लिए जनता के बीच जाएंगे। आरएलएसपी 'नीतीश हटाओ-भविष्य बचाओ' यात्रा निकालने जा रही है। यह यात्रा दो जुलाई से मुजफ्फरपुर से शुरू होकर छह जुलाई को पटना में संपन्न होगी।

बचने का रास्ता ढूंढ लेते नीतीश कुमार

मंगल पांडे से इस्तीफा मांगने की चर्चाओं (पुष्टि नहीं) पर उपेंद्र कुशवाहा ले कहा कि जब-जब नीतीश सरकार कठघरे में खड़ी नजर आई, नीतीश कुमार ने बच निकलने का रास्ता खोज लिया। अब मंगल पांडेय का इस्तीफा मांगा जा रहा है। लेकिन इस बार ऐसा नही होने देंगे। उन्‍होंने कहा कि वे नीतीश कुमार के चेहरे को बेनकाब कर के दम लेंगे।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस