पटना [राज्य ब्यूरो]। रमजान के पवित्र महीने में लोजपा द्वारा बुधवार को आयोजित इफ्तार पार्टी में एनडीए की एकजुटता दिखी। इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधान सभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी सहित लोजपा और रालोसपा के कई प्रमुख नेता शामिल हुए। सभी ने अमन- शांति, भाईचारा और देश और बिहार के विकास की दुआ की।

इस मौके पर केन्द्रीय मंत्री व लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने कहा कि एनडीए एकजुट और कोई विवाद नहीं है। देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं बिहार में नीतीश कुमार एनडीए के चेहरे हैं। नीतीश ही बिहार में 2019 और 2020 के चुनाव का नेतृत्व करेंगे। नीतीश कुमार एवं सुशील कुमार मोदी को राम- लक्ष्मण की जोड़ी करार देते हुए उन्होंने कहा कि इनके नेतृत्व में बिहार आगे बढ़ रहा है और तेजी से विकास हो रहा है।

पासवान ने कहा कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद बिहार को बंधुआ मजदूर समझते हैं। वे चाहते हैं कि बिहार की सत्ता पर उनका परिवार ही काबिज रहे। ऐसा होने वाला नहीं है। साम्प्रदायिकता के सवाल पर लोजपा प्रमुख ने कहा कि जेपी आंदोलन से निकलने वाला कोई भी व्यक्ति साम्प्रदायिक कभी नहीं हो सकता है।

मौके पर लोजपा के केन्द्रीय संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष व सांसद चिराग पासवान, प्रदेश अध्यक्ष व मंत्री पशुपति कुमार पारस, सांसद रामचन्द्र पासवान, महबूब अली कैसर, डॉ शाहनवाज अहमद कैफी, प्रिंस राज, राजू तिवारी, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, विनोद नारायण झा, जदयू के प्रदेश मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह, संजय गांधी, रालोसपा के सांसद रामकुमार शर्मा, डॉ अरुण कुमार, देवेश चन्द्र ठाकुर, डॉ सूरज नंदन कुशवाहा, सतीश कुमार, अशरफ अंसारी, श्रवण कुमार अग्रवाल, आदि मौजूद थे।  

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप