पटना [जेएनएन]। एक पति पर दो पत्नियों का दावा और इसे लेकर दोंनों में सरेआम मारपीट के बीच आफत में फंसा पति। इस हाई वोल्‍टेज ड्रामा को देखने उमड़ी भीड़ को नियंत्रित करने में पुलिस के भी पसीने छूट गए। इसके बाद पहली पत्‍नी ने घोषणा कर दी कि अब चाहे जा हो, जीना-मरना पति के ही साथ होगा। घटना बिहार के पूर्णिया समाहरणालय परिसर में हुई।

जानकारी के अनुसार पूर्णिया के बड़हरा कोठी निवासी पंकज पंडित ने ठाकुरगंज की रहने वाली एक शिक्षिका सुनिता से शादी की। इसके बाद पंकज के घरवालों ने उसकी शादी सुषमा से करा दी। पंकज अपनी पहली पत्‍नी सुनिता के साथ रहता है। दोनों को बच्‍चे भी हैं।

इससे नाराज पंकज की दूसरी पत्‍नी सुषमा ने अदालत का दरवाजा खटखटाया। मामला परिवार न्‍यायालय होते हुए परामर्श केंद्र पहुंचा। इस मामले में शनिवार को पंकज तथा उसकी दोनों पत्नियां व अन्‍य परिजन पूर्णिया समाहरणालय स्थित परामर्श केंद्र पहुंचे।

वहां दोनों पत्नियां एक-दूसरे को देखकर भड़क गईं। इसके बाद मामला तू-तू मैं-मैं से होते हुए लात-जूतों तक पहुंच गया। दोनों पत्नियाें को छुड़ाने के दौरान पंकज को दूसरी पत्‍नी के क्रोध का भी शिकार होना पड़ा।

घटना को देखने के लिए भारी भीड़ उमड़ पड़ी। इस बीच स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को काफी मशक्‍कत करनी पड़ी। बाद में पहली पत्‍नी ने फिल्‍मी अंदाज में घोषणा कर दी कि चाहे जो हो, जीएंगे-मरेंगे पंकज के ही साथ। उधर, घटना के बाद तनाव को देखते हुए परामर्श केंद्र ने मामले के लिए अगली तिथि निर्धारित कर दी।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप