गाेपालगंज [जेएनएन]। महावीरी अखाड़ा जुलूस के दौरान हुई रोड़ेबाजी के बाद दो पक्ष के लोग भिड़ गए। उपद्रव में पूरा इलाका एक घंटे तक रणक्षेत्र में तब्दील रहा। जमकर ईंट व पत्थर बरसते रहे। उपद्रव में एक दर्जन लोग घायल हो गए। भीड़ ने मौके पर पहुंची पुलिस पर भी हमला कर दिया। उपद्रवियों के हमले में पुलिस के दो वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। स्थिति पर नियंत्रण के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। घटना बिहार के गोपालगंज स्थित कुचायकोट के हिरंदा गांव में हुई। तनाव को देखते हुए पुलिस गांव में कैंप कर रही है।

मिली जानकारी के अनुसार गोपालगंज के मनियारा गांव में शनिवार की शाम महावीरी अखाड़ा का आयोजन किया गया था। रात्रि के समय गांव के लोग महावीरी अखाड़ा का जुलूस लेकर हिरंदा गांव से गुजर रहे थे। इस दौरान गांव में असामाजिक तत्वों ने पथराव कर दिया। जुलूस में चल रहे आधा दर्जन लोग इसमें घायल हो गए। इसके बाद जुलूस में शामिल लोगों ने भी पत्थरबाजी शुरू कर दी।

एक घंटे तक ईंट-पत्थर चलते रहे। घटना की जानकारी मनियारा गांव में रहे थानाध्यक्ष कुचायकोट और बीडीओ को मिलने के बाद वे मौके पर पहुंच गए। दोनों ने वरीय अधिकारियों को  सूचना दी। जब तक वरीय अधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचते, लोगों ने दो पुलिस वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

घायल लोगों में जतन यादव, सुरेंद्र यादव ,रामबालक यादव ,महावीर यादव, सुभाष यादव तथा लड्डू कुमार शामिल हैं। सदर एसडीपीओ नरेश पासवान, सदर एसडीएम उपेंद्र कुमार पाल, बीडीओ दीप चंद्र जोशी, कुचायकोट थानाध्यक्ष रंजीत कुमार समेत आधा दर्जन थानों की पुलिस मौके पर कैंप कर रही है। गांव में सन्नाटा पसरा है। गांव के सभी युवक फरार बताए जाते हैं।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप