अरुण अशेष, पटना। राज्य की सड़कें अच्छी हो गई हैं। इसलिए मानसून में सड़कें तो भीगी, मगर पैर फिसलने की खबरें नहीं आईं। उधर राजनीति के गलियारे में जुबान फिसलने की बाढ़ आ गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक सरकारी बैठक में उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को माननीय मुख्यमंत्री कह कर संबोधित करने लगे तो भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल ने नीतीश कुमार को  प्रधानमंत्री बना दिया। भला राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद कहां पीछे रहते। उन्होंने कह दिया-2064 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को सत्ता से हटा देना है।

नेता तो कुछ बोल कर उसे सुधार लेते हैं या भूल जाते हैं, विरोधियों को मौका मिल जाता है। हालांकि जिनकी जुबान फिसलती है, सफाई इस तरह आती है-एडिटेड वीडियो है। अच्छी बात यह है कि पक्ष-विपक्ष-दोनों के नेताओं की जुबान फिसलती रहती है। 

(बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। जागरण)

यह भी पढ़ें- Bihar politics: महागठबंधन में आना चाह रहे हैं अमित शाह, इसलिए बार-बार आ रहे हैं बिहार, तेज प्रताप का तंज

नीतीश ने डिप्टी सीएम तेजस्वी कह दिया मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का एक वीडियो प्रसारित हुआ है। इसमें वे उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री कह रहे हैं। इसका प्रसारण भाजपा के प्रवक्ता निखिल आनंद के ट्वीट से हुआ। बड़े सयानों ने व्याख्या कर दी-नीतीश सच बोल गए। राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद जोश में आ गए-2023 में तेजस्वी सीएम बन जाएंगे। विवाद बढ़ते देख स्वयं तेजस्वी ने हस्तक्षेप किया-सीएम बनने की लालसा नहीं है। हम हड़बड़ी में भी नहीं हैं। जदयू इसे एडिटेड वीडियो बता रहा है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल पूर्णिया में गृहमंत्री अमित शाह की सभा से पहले बताने लगे-नीतीश कुमार जी के प्रधानमंत्री बनने के कार्यक्रम के बाद यह कार्यक्रम हो रहा है। 

यह भी पढ़ें-Bihar politics: महागठबंधन में आना चाह रहे हैं अमित शाह, इसलिए बार-बार आ रहे हैं बिहार, तेज प्रताप का तंज

(राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव। जागरण)

राजद अध्यक्ष लालू यादव की भी फिसली जुबान


राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद कभी-कभी मर्जी से भी जुबान को फिसलने देते हैं। कांग्रेस के नेता भक्त चरण दास को भकचोन्हर कह दिया था। लालू ने इसका परिमार्जन नहीं किया। मगर, 25 सितम्बर को उनकी जुबान फिसली तो भाजपाइयों को मजा आ गया। उस दिन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर बाहर निकले लालू मीडिया के सामने बोले-हम लोगों ने सोनिया गांधी से आग्रह किया। आपकी सबसे बड़ी पार्टी है। सबको बुलाइए। हम सब मिलकर 64 (2024 कहना चाह रहे थे।) में इनको (भाजपा को) विदा कर देंगे।

यह भी पढ़ेंः शिवानंद तिवारी ने कहा- सुशील मोदी जी, इस चिंता में आप दुबले मत होइए, तेजस्‍वी से भी की तुलना

(नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा। जागरण)

विपक्ष ने लालू के बयान पर ली चुटकी

विधानसभा में विपक्ष के नेता विजय सिन्हा ने चुटकी ली-लालू भी मान रहे हैं कि 2064 तक कोई वैकेंसी नहीं है। राजनीतिक गलियारे से जुबान फिसलने की बड़ी खबर सहकारिता मंत्री सुरेंद्र यादव के माध्यम से आई। वे प्रेस काफ्रेंस में बोल रहे थे। रिकार्ड किया जा रहा था। अचानक मुंह से गाली निकल गई। उन्हें महसूस नहीं हुआ। इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित हुआ तो कहीं से सफाई की गुंजाइश भी नहीं रह गई। गाली ऐसी, जिसे छापा नहीं जा सकता है।

Edited By: Rahul Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट