पटना, जेएनएन। कोलकाता भागने की फिराक में लगे किंगलैया कम्युनिस्ट नामक प्रतिबंधित संगठन के तीन उग्रवादी संगठन गुरुवार की रात कोतवाली थाना पुलिस के हत्थे चढ़ गए। मणिपुर पुलिस के सहयोग से पटना पुलिस की कार्रवाई में तीनों पकड़े गए।

इंफाल जिले के विभिन्न थानों में दर्ज मामलों में वांछित थे। उग्रवादियों की पहचान 38 वर्षीय सपन कनगलीपाल (नोमदा बागारेश्वर, लमलाही, इंफाल ईस्ट), 33 वर्षीय वाहिवम थैये (वेवीगई तारापिस्टकर, श्यामलग, ककचमी, मणिपुर) और 27 वर्षीय रोशन सिंह (वुमल लेकर, परोमपा, इंफाल ईस्ट) के रूप में हुई है। पुलिस ने उनके पास से मोबाइल, कॉम्बैट ड्रेस और नकदी बरामद की। कोतवाली थानाध्यक्ष राम शंकर सिंह ने बताया कि शुक्रवार को पुलिस ने उग्रवादियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से 48 घंटे की ट्रांजिट रिमांड पर मणिपुर पुलिस उन्हें साथ लेकर रवाना हो गई।

दुकानों में ही पूछताछ
गिरफ्तार उग्रवादियों पर इंफाल जिले के लमपेल और परोमपा थानों में मामले दर्ज हैं। मणिपुर के दारोगा मो. अजहर खान के नेतृत्व में दो सदस्यीय टीम लगातार इनके पीछे लगी थी। वहां के एएसपी टीम की मॉनीटरिंग कर रहे थे। तभी टीम को उग्रवादियों के नेपाल में होने की सूचना मिली। पुलिस ने दबिश दी तो मालूम हुआ कि वे निकल चुके हैं। दुकानों में पूछताछ करने पर पता चला कि उन्होंने भारत के मोबाइल नंबर पर रिचार्ज कराया था।

टॉवर लोकेशन के आधार पर की घेराबंदी
मणिपुर पुलिस की टीम ने अपने एएसपी को एक उग्रवादी का मोबाइल नंबर भेजा। एएसपी ने उसे सर्विलांस पर रख लिया। जब उन्हें पता चला कि वे पटना पहुंचने वाले हैं और जंक्शन से ट्रेन लेकर कोलकाता जाएंगे तो मणिपुर के एएसपी खुद भी टीम के साथ गुरुवार को पहली फ्लाइट से यहां आ गए। इसके बाद उन्होंने डीएसपी (विधि-व्यवस्था) डॉ. राकेश कुमार से सहयोग मांगा। कोतवाली पुलिस की टीम ने टावर लोकेशन के आधार पर इलाके की घेराबंदी कर ली।

स्टेशन पर ही थी पुलिस
उग्रवादियों की पहचान के लिए कोतवाली थाने की पुलिस के साथ मणिपुर की टीम भी घूम रही थी। पटना जंक्शन के प्लेटफॉर्म नंबर एक पर कोलकाता के लिए ट्रेन आने वाली थी। तीनों उग्रवादी एक कोने में ट्रेन के आने का इंतजार कर रहे थे। तभी अजहर की नजर सपन से मिल गई। तब तीनों प्लेटफॉर्म के पश्चिमी छोर की तरफ बढ़ने लगे। यात्रियों में भगदड़ नहीं मच जाए, इसलिए मणिपुर पुलिस भी उनके पीछे चलने लगी। इधर, कोतवाली पुलिस भी जंक्शन से बाहर निकल पटरी के समानांतर चल रही थी। हार्डिग रोड तक उग्रवादी पटरी के किनारे चलते रहे, जैसे ही दीवार फांदसड़क पर पहुंचे कि कोतवाली थाने की पुलिस ने उन्हें दबोच लिया।


छह दिनों के लिए रिमांड का किया था अनुरोध

पटना जंक्शन के पास स्थित हार्डिग पार्क के नजदीक से इंफाल व पटना पुलिस द्वारा पकड़े गए तीन उग्रवादियों को शुक्रवार को मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मनीष द्विवेदी की अदालत में पेश किया गया। इंफाल पुलिस ने अदालत से तीनों आरोपितों को छह दिनों के लिए ट्रांजिट रिमांड पर देने का अनुरोध किया। अदालत ने आरोपितों को 48 घंटे के लिए ट्रांजिट रिमांड पर दिया।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Akshay Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप