वैशाली [जेएनएन]। बिहार के वैशाली जिले के हाजीपुर शहर के कटरा मोहल्ला स्थित बाबा पतालेश्वर नाथ की हर बात निराली है। इस मंदिर से सिर्फ वैशाली ही नहीं बल्कि आसपास के जिलेवासियों की भी आस्था जुड़ी हुई है। सालभर यहां सुबह से लेकर शाम तक श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है। मान्यता के अनुसार ये मंदिर तीन सौ वर्ष से भी ज्यादा पुराना है। पहले ये छोटा सा मंदिर था जो अब भव्य रूप ले चुका है। मंदिर को और ज्यादा आकर्षक व भव्य बनाने की तैयारी चल रही है। महाशिवरात्रि के मौके पर यहां लाखों की संख्‍या में श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी। बाबा पतालेश्वरनाथ मंदिर से निकली भोलेनाथ की भव्य बारात को देखने के लिए सड़क पर आस्‍था का जनसैलाब उमड़ पड़ा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय खुद बाबा के गाड़ीवान बनें। बारात में सैंकड़ों भूत-पिशाच शामिल हुए।

शिवलिंग की गहराई की नहीं मिली थाह

किवदंती है कि कटरा में जिस जगह ये मंदिर है वहां कभी चारों ओर जंगल था। 17-18 वीं सदी में एक वृद्ध अंधी महिला भटकते हुए यहां पहुंची और शिवलिंग से टकरा गई। इसके बाद यहां पूजा-अर्चना शुरू हो गई। कहते हैं कि यहां स्थापित शिवलिंग जमीन के कितने नीचे तक है, इसका अंदाजा आजतक नहीं लगाया जा सका है। कुछ वर्ष पूर्व मंदिर सुंदरीकरण के दौरान शिवलिंग को थोड़ा ऊपर करने की कोशिश में दस फीट तक खोदाई की गई लेकिन शिवलिंग के अंत का पता नहीं चल सका। 

भव्य बरात देखने उमड़ पड़ते श्रद्धालु

महाशिवरात्रि के दिन यहां मंदिर और सड़कों पर आस्था का सैलाब उमड़ता है। सैलाब भी ऐसा कि सड़क पर भी कहीं पांव रखने तक की जगह नहीं मिलती। शहर के पतालेश्वर नाथ मंदिर से भगवान शिव की निकलने वाली बरात को देखने के लिए दूर-दूर से लाखों श्रद्धालु जुटते हैं। इस दौरान लगभग दस घंटे तक मानो पूरा शहर ठहर जाता है।

हाथी-घोड़े के साथ बरात का आकर्षण बनतीं आकर्षक झांकियां

मंदिर के पुजारी प्रशांत तिवारी व पवन शास्त्री बताते हैं कि हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी महाशिवरात्रि को लेकर नगर के पतालेश्वर नाथ मंदिर में पूरे जोर-शोर से तैयारी की गई। यहां से निकलने वाली भगवान शिव की बारात को भव्य और खास बनाने के लिए बारात में सैकड़ों आकर्षक झांकियां, भूत-बैताल, बैंड-बाजा, हाथी-घोड़े शामिल हुए।

बाबा के गाड़ीवान बने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय

महाशिवरात्रि के दिन निकलने वाली भगवान शिव की भव्य बारात में सबसे आगे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सह उजियारपुर के सांसद नित्यानंद राय की बैलगाड़ी रही। इस बैलगाड़ी पर भगवान भोले शंकर स्वयं विराजमान रहे और प्रदेश अध्यक्ष उनके गाड़ीवान की भूमिका में नजर आये। यह परंपरा पिछले कई दशकों से चली आ रही है। नित्यानंद राय हाजीपुर विधानसभा क्षेत्र से चार बार विधायक रह चुके हैं। वे राजनीतिक जीवन की शुरुआत के पहले से इस परंपरा का निर्वहन कर रहे हैं।

Posted By: Ravi Ranjan