पटना, जेएनएन। राजधानी पटना के पत्रकार नगर थानाक्षेत्र के हनुमान नगर में चोरों ने घर में घुसकर अजीबोगरीब चोरी की घटना को अंजाम दिया। चोरों ने घर से 60 लाख की संपत्ति चोरी कर ली। इतना ही नहीं चोरों ने किचेन में रखा सरसों का तेल, आटा, चावल, मैगी के पैकेट और टूथपेस्ट चुराने के साथ ही सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर भी उखाड़कर साथ ले गए।

चोरों का दिमाग इतना खुराफात वाला था कि चोरी करने के बाद चोरों ने घर में रखे ड्रेसिंग टेबल के शीशे पर लिपस्टिक से लिखा-भाभीजी, आप बहुत अच्छी हैं। इसके साथ ही चोरों ने घर के मालिक के बारे में कई अपशब्द भी लिखे। 

घटना पत्रकार नगर थाना अंतर्गत हनुमान नगर के पीसी कॉलोनी की है जहां रविवार की देर रात में आधा दर्जन से अधिक चोरों ने रविवार की आधी रात बंद फ्लैट का ताला तोड़कर 60 लाख की चोरी कर ली। इसमें 59 लाख के सिर्फ पुश्तैनी गहने थे जिसे लॉकर समेत चोर उखाड़ कर ले गए। 35 हजार नकदी व अन्य कीमती सामान भी चुरा लिया। इतना ही नहीं, चोरों ने घर के आईने पर लिपस्टिक से अमर्यादित टिप्पणी भी की।

पीडि़त प्रवीण कुमार ने बताया कि पुलिस को चोरी की सूचना साढ़े तीन बजे दी गई, मगर दो घंटे बाद पुलिस आई। परिजनों ने पहले डकैती का आवेदन दिया था, लेकिन पुलिस ने डकैती की परिभाषा समझाते हुए चोरी का आवेदन लिखवाया। पत्रकार नगर थानेदार मनोज कुमार ने बताया कि चोरी का मामला दर्ज किया गया है। छानबीन की जा रही है। परिजनों ने डकैती की बात कही थी मगर अपराध की शैली चोरी की है। 

एक ही मकान में अलग-अलग फ्लैट में रहते हैं पांच परिवार 

पीसी कॉलोनी स्थित मकान नंबर के-129 निवासी राजेश्वर प्रसाद सिन्हा मूल रूप से नालंदा के नूरसराय स्थित बृजपुर गांव के रहने वाले हैं। मकान में कुल नौ फ्लैट हैं। इसमें उनके पांच बेटे ऋषिकेश कुमार, पंकज कुमार, पारितोष कुमार, प्रशांत और प्रवीण कुमार अलग-अलग फ्लैट में रहते हैं। चार किराएदार भी हैं। प्र

शांत दिल्ली में बैंक अधिकारी हैं और प्रवीण पुणे में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। दोनों का परिवार दिल्ली में ही रहता है, अन्य तीनों भाई पटना में बिजनेस करते हैं। 

 प्रवीण कुमार ने बताया कि ऋषिकेश की पत्नी और उनकी दोनों बेटियां और पारितोष का 18 साल का बेटा गांव नहीं गया था, बाकी सभी लोग एक नवंबर को छठ पर्व के दौरान नालंदा स्थित गांव गए थे। संयुक्त परिवार होने की वजह से सभी का पुश्तैनी जेवर पारितोष कुमार के पहले मंजिल की फ्लैट में रखा था।

चोरों ने इसी फ्लैट को निशाना बनाया। पीछे के रास्ते दीवार कूदकर सीधे परितोष के फ्लैट तक पहुंच गए। दोनों आलमारी का लॉक तोड़ दिया, लेकिन गहने जिस लॉकर में थे, वह कोड की वजह से नहीं खुला। इसके बाद चोरों ने लॉकर ही उखाड़ लिया, जिसमें करीब 35 हजार नकद और 59 लाख रुपए के गहने रखे हुए थे। फ्लैट के बगल में ही सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर भी उखाड़ दिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस