फतुहा (पटना), संवाद सूत्र। राजधानी पटना में आपराधिक घटनाएं कम नहीं हो रहीं। ताजा घटना नदी थाना क्षेत्र की है। यहां शादी में गए एक व्‍यवसायी के घर को चाेरों ने निशाना बना लिया। मौजीपुर गांव निवासी बाइक व ट्रैक्‍टर शो रूम के मालिक जय भगवान सिंह के घर से 10 लाख नकदी व इतनी ही कीमत के आभूषण समेत लाइसेंसी पिस्‍टल भी चोर ले गए। शादी समारोह से लौट व्‍यवसायी घर के हालात देखकर सन्‍न रह गए। सूचना पर पुलिस पहुंची। खोजी कुत्‍ते को भी बुलाया गया। हालांकि पुलिस को तत्‍काल कोई सफलता नहीं मिल सकी है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। 

साढू के घर थे मांगलिक कार्यक्रम में शामिल होने

जानकारी के अनुसार क्षेत्र के प्रतिष्ठित कारोबारी जयभगवान सिंह 21 जनवरी को सपरिवार पटना के कुम्‍हरार गए थे। उन्‍हें अपने साढू के घर मांगलिक कार्यक्रम में शामिल होना था। इस बीच उनका घर बंद था। 26 जनवरी को जब वे लौटे तो अंदर से बंद ताला टूटा देखा। इसके बाद जब वे अंदर घुसे तो नजारा देखकर हक्‍का-बक्‍का रह गए। सारे सामान बिखरे हुए थे। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही नदी थानाध्यक्ष धर्मेंद्र प्रसाद पहुंचे। बाद में डॉग स्‍क्‍वायड को भी बुलाकर छानबीन की गई। पीड़‍ित व्‍यवसायी की पत्‍नी ने बताया कि चोरों ने घर में रखे दस लाख रुपये नकद, इतने के ही आभूषण, लाइसेंसी रिवाल्‍वर और कई गोलियों समेत अन्‍य सामान की चोरी कर ली है। 

बंद घर देख चोरों ने कर दिया हाथ साफ 

चोरी की इस घटना से पुलिस की रात्रि गश्‍ती पर सवाल खड़े हो गए हैं। स्‍थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस की लापरवाही के कारण न तो आम लोगों का जान सुरक्षि‍त है और न सामान। लोग करें तो क्‍या करें।  पुलिस नियमित रूप से रात्रि गश्‍ती नहीं करती। इस कारण आए दिन कहीं चोरी तो कहीं डकैती की घटनाएं हो रही हैं। 

Edited By: Vyas Chandra