पटना [रमण शुक्ला]। बिहार भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी घोषित करने से पहले पार्टी जमीनी स्तर पर संगठन की नब्ज टटोलेगी। भाजपा ने इसी सिलसिले में नौ फरवरी को पार्टी के सभी जिलाध्यक्षों और जिलों के चुनाव प्रभारियों की बैठक की। वहीं, 11 फरवरी को प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक होगी। इसके बाद भाजपा के तमाम दिग्गज नेता और सरकार में शामिल मंत्री जिलों के दौरे पर निकलेंगे।

भाजपा ने प्रदेश के शीर्ष नेताओं के लिए तीन दिनी प्रवास का कार्यक्रम तय कर दिया है। 14, 15 और 16 फरवरी को पार्टी के आला नेता जिलों के प्रवास पर रहेंगे। पार्टी ने शीर्ष 15 नेताओं को जिलों के दौरे की जिम्मेदारी सौंपी है। प्रवास कार्यक्रम के दौरान जिले वार पार्टी के शीर्ष नेता तीन चरणों में बैठक को संबोधित करेंगे।

पहले सत्र में होगी मीडिया सेल की बैठक

इस दौरान पहले सत्र में सोशल मीडिया सेल की बैठक होगी।  दूसरे सत्र में नव गठित जिला की कार्यकारिणी की बैठक होगी। जबकि तीसरे सत्र में शाम को जिला कोर कमेटी की बैठक के बाद प्रदेश कार्यकारिणी के नुमाइंदों के नाम की सिफारिश करेंगे। अहम यह है कि मंत्रियों के दौरे में प्रदेश भाजपा के संबंधित जिलों के चुनाव प्रभारी भी मौजूद रहेंगे। पार्टी ने चार महामंत्रियों राजेंद्र सिंह, प्रमोद चंद्रवंशी, राधा मोहन शर्मा और सुशील चौधरी को भी जिलेवार दौरे की जिम्मेदारी दी है।

कौन नेता कहां करेंगे प्रवास

प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल 14 को बेगूसराय, 15 को पटना ग्रामीण और 16 को अरवल जिले के दौरे पर रहेंगे। जबकि श्रम संसाधन मंत्री विजय सिन्हा 14 को गया, 15 को नालंदा और 16 को लखीसराय जिले के दौरे पर रहेंगे। वहीं, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय 16 को छपरा और 17 को सिवान में संगठनात्मक बैठक लेंगे। इसके अलावा उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव, कृषि मंत्री प्रेम कुमार, नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा, कला संस्कृति एवं खेल कूद मंत्री प्रमोद कुमार और राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री राम नारायण मंडल के अलावा केंद्रीय मंत्रियों को जिलों में प्रवास कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है। हालांकि अभी कई मंत्रियों को प्रवास से संबंधित जिले का आवंटन नहीं किया गया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस