हिलसा (नालंदा), संवाद सहयोगी। पंचायत चुनाव के दौरान पक्ष में मतदान से इनकार करने पर पंचायत समिति  सदस्‍य प्रत्याशी के पति ने वोटर को लाइसेंसी पिस्तौल से गोली मार दी। जख्मी वोटर को गंभीर हालत में हालत में अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां से उसे पटना रेफर कर दिया गया। मामला हिलसा थाना क्षेत्र के जूनियार पंचायत के गुलनी का है। घटना की खबर मिलते ही थानाध्यक्ष प्रकाश कुमार शरण घटनास्थल पर पहुंचे। लाइसेंसी पिस्तौल से गोली मारने की पुष्टि थानाध्यक्ष ने की है। आरोपित उद्योग विभाग में डिप्‍टी कमिश्‍नर के पद पर कार्यरत राजीव रंजन फरार हो गया। 

पत्‍नी के पक्ष में वोट देने के लिए कहने पर हुआ विवाद 

बताया जाता है कि हिलसा थाना क्षेत्र के जूनियर पंचायत के गुलनी गांव में मतदान केंद्र पर लोग वोट डालने के लिए कतार में खड़े थे। इधर प्रत्‍याशी और उनके समर्थक घर-घर जाकर मतदाताओं से अपने पक्ष में वोट डालने की अपील कर रहे थे। पटना में उद्योग विभाग में डिप्‍टी कमिश्‍नर के पद पर पोस्‍टेड राजीव रंजन की पत्‍नी रेखा रंजन पंचायत समिति सदस्‍य का चुनाव लड़ रही हैं। जनसंपर्क के दौरान राजीव रंजन ने सुरेंद्र प्रसाद के पुत्र मनीष कुमार को अपने पक्ष में वोट देने को कहा। इसी बात पर दोनों में कहासुनी हो गई। बात इतनी बिगड़ गई कि राजीव रंजन ने अपने लाइसेंसी पिस्‍टल से मनीष कुमार को गोली मार दी।

गंभीर हालत में नालंदा से पटना रेफर 

गोली मनीष की जांघ में लगी। इसके बाद तो अफरातफरी मच गई। आनन-फानन में मनीष को अनुमंडलीय अस्‍पताल ले जाया गया। वहां से उसे पटना रेफर कर दिया गया। इधर गोली चलने के बाद मतदान केंद्र से लोग इधर से उधर भागने लगे।  हालांकि, मतदान केंद्र पर मुस्तैद प्रशासन ने लोगों को समझा-बुझाकर कतार में लगवाया।  घटना की खबर मिलते कई वरीय पुलिस पदाधिकारी घटनास्थल पर पहुंचकर मामले को छानबीन करने में जुटे हैं। बताया जाता है कि राजीव रंजन पहले अरवल ट्रेजरी में बड़ा बाबू के पद पर कार्यरत था। बाद में बीपीएससी की परीक्षा उत्‍तीर्ण की। वर्तमान में पटना में उद्योग विभाग के डिप्‍टी कमिश्‍नर के पद पर कार्यरत है। पुलिस मामले की जांच-पड़ताल में लगी है। 

Edited By: Vyas Chandra