पटना, जेएनएन। मुजफ्फरपुर में इसी माह सात दिसंबर को दुष्कर्म के असफल प्रयास के बाद जलाई गई लड़की की हालत नाजुक बनी हुई है। पीड़िता 90 फीसद तक जल चुकी है। उसे मंगलवार को पटना के अपोलो बर्न हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। मंगलवार को राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्र जब पीड़िता से मिलने पहुंची तो उसने कहा कि मैं रहूंया न रहूं पर दोषियों को सजा जरूर मिलनी चाहिए।

पहले अस्पताल लाते तो स्थिति होती बेहतर

अपोलो बर्न हॉस्पिटल के मुख्य कंसल्टेंट डॉ. केएन तिवारी का कहना है कि अगर लड़की को और पहले अस्पताल में लाया जाता तो, उसकी स्थिति और बेहतर होती। जलने के तीन दिनों के बाद यहां लाया गया है। अस्पताल प्रशासन उसे बचाने का हरसंभव प्रयास कर रहा है। लेकिन उसकी स्थिति अत्यंत नाजुक बनी हुई है। उसके शरीर का अधिकांश हिस्सा जल चुका है। जिससे उसे काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

एेसी मिले सजा कि फिर कोई...

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्र ने मंगलवार को जब अस्पताल में भर्ती पीड़िता से मुलाकात की तो उसने अपना दर्द बयां किया। कहा कि ‘मैं रहूं न रहूं, दोषियों को सजा जरूर मिले। सजा ऐसी मिले कि कोई फिर इस तरह का दुस्साहस करने की हिम्मत न करे।’

कई बार पुलिस से की थी शिकायत

पीड़िता ने अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि इस घटना से पहले उसने कई बार उस लड़के के खिलाफ पुलिस से और लड़के के माता-पिता से शिकायत की थी, लेकिन किसी ने भी कोई कार्रवाई नहीं की। इस कारण उसके साथ यह घटना हुई है। उसने अध्यक्ष से हाथ जोड़ते हुए कहा ‘मेरे दोषियों को बिल्कुल भी नहीं छोड़ा जाए’। मुलाकात के बाद महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पूरी कोशिश होगी कि दोषी को सजा मिले और उसे इंसाफ भी मिल सके।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस