पटना [जेएनएन]। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जासूसी करने का आरोप लगाते हुए गोपनीयता भंग होने की बात कही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि मुख्यमंत्री आवास पर हाई डेफिनेशन सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है, इससे पड़ोसी की गोपनीयता भंग हो सकती है।

तेजस्वी यादव ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा है कि बिहार सरकार मुख्यमंत्री को जेड श्रेणी की सुरक्षा मुहैया करा रही है। मुख्यमंत्री आवास पर हर समय उच्च स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था रहती है। ऐसे में मुख्यमंत्री आवास के ऊपर हाई डेफिनेशन सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है, जिससे पड़ोसी की गोपनीयता भंग हो सकती है।

उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री आवास तीन मुख्य सड़कों से घिरा है, जबकि चौथी ओर नेता प्रतिपक्ष अर्थात मेरा घर है। ऐसे में सिर्फ राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के आवास की ओर ही सीसीटीवी की आवश्यकता महसूस हुई? साथ ही उन्होंने अपराध को लेकर निशाना साधते हुए कहा है कि पूरे राज्य को छोड़ दें, पटना में ही गंभीर अपराध होता है, लेकिन मुख्यमंत्री नागरिकों की सुरक्षा के बजाय विपक्षियों की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों पर नजर रखने को लेकर परेशान हैं।

बता दें कि मुख्यमंत्री के पड़ोस का यह बंगला उपमुख्यमंत्री के लिए आवंटित है। लेकिन, फिलहाल इस बंगले में अभी तेजस्वी यादव ही रह रहे हैं। बिहार में एनडीए गठबंधन की सरकार बनने पर उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को राज्य सरकार ने यह बंगला आवंटित किया।

इस बंगले में रहने को लेकर हुए विवाद के बाद तेजस्वी यादव राज्य सरकार के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट चले गये और पटना हाईकोर्ट के सिंगल बेंच में फैसला पक्ष में आने के बाद उन्होंने डबल बेंच में अपील की है। मामला अभी अदालत में लंबित है और फिलहाल तेजस्वी इसी बंगले में रह रहे हैं। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस