पटना, राज्य ब्यूरो। विधानमंडल के मानसून सत्र के पांचवें दिन गुरुवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सदन में पहुंचे। लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की करारी शिकस्त के 35 दिन बाद तेजस्वी की सक्रिय राजनीति में वापसी हुई। कयासों और चर्चाओं पर विराम देते हुए वे पौने 12 बजे सदन में आए। यहां वे करीब 15 मिनट रहे। बाद में मीडिया से मिले। राजद विधायकों से भी मुलाकात की। किंतु अज्ञातवास के सवाल को अगले दिन के लिए टाल दिया। 

विधानसभा स्थित अपने चैंबर में पत्रकारों के कुरेदने पर उन्होंने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान एक पैर में चोट आ गई थी, जिसके इलाज के लिए वह दिल्ली में थे। दिल्ली में कहां थे? किससे मिले जैसे सवालों पर तेजस्वी ने कहा कि आज मेरी वापसी ही खबर है। 

तेज प्रताप भी थे साथ

तेजस्वी के साथ उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव भी थे। तेज प्रताप सदन में नहीं आए। तेजस्वी सदन में आए तब प्रश्नकाल चल रहा था। आने की सूचना मिलते ही विधायक भोला यादव उनकी नेता अगवानी के लिए बाहर निकल गए। 

बताते चलें कि लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद 29 मई को हार की प्रारंभिक समीक्षा करने के बाद तेजस्वी राजनीतिक माहौल से दूर चले गए थे। लालू प्रसाद की गैरमौजूदगी में राजद की कमान संभाल रहे तेजस्वी के अचानक गायब हो जाने के बाद कई तरह के सवाल उठाए जाने लगे थे। 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप