पटना, जेएनएन। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव आज मंगलवार को IRCTC रेलवे टेंडर घोटाला मामले में दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में पेश हुए। इसके साथ ही प्रेमचंद गुप्‍ता की पत्‍नी सरला गुप्‍ता भी कोर्ट में पेश हुईं। इस मामले में कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। अब इसकी अगली सुनवाई 23 जुलाई को होगी। तक के लिए टल गई।  

तेजस्‍वी यादव सोमवार को ही पटियाला कोर्ट में पेश होने के लिए पटना से दिल्‍ली के लिए रवाना हो गए थे। प्रवर्तन निदेशालय की ओर से दर्ज मुकदमे में वे मंगलवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश हुए। तेजस्वी यादव के वकील ने कोर्ट में अपना पक्ष रखा। कोर्ट में सीबीआई के वकील ने भी अपना पक्ष रखा। इस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने फैसले को सुरक्षित रख लिया। अब इसकी अगली सुनवाई 23 जुलाई को होगी। 

बता दें कि IRCTC के होटल आवंटन मामले में सीबीआई के बाद ईडी ने भी पटियाला हाउस कोर्ट में लालू परिवार के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया था। चार्जशीट में ईडी ने कई अहम सबूत होने की बात कही थी। इस मामले में बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी और अन्य भी आरोपी हैं, जिनकी पेशी होनी है। मंगलवार को राबड़ी देवी पेश नहीं हुईं। वे तबीयत खराब रहने के कारण दिल्‍ली नहीं जा सकीं। 

चार्जशीट में ईडी ने लालू प्रसाद यादव, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव, पूर्व मंत्री प्रेमचंद्र गुप्ता, उनकी पत्नी सरला गुप्ता और तत्कालीन एमडी बीके अग्रवाल के अलावा अन्य लोगों को आरोपी बनाया था।

गौरतलब है कि इस मामले में लालू यादव को बीते जनवरी में ही जमानत मिल चुकी है तो वहीं तेजस्वी और राबड़ी देवी को कोर्ट ने 6 दिसंबर को ही अंतरिम जमानत दे दी थी।

साल 2004 से 2009 के बीच लालू रेल मंत्री रहे थे उस समय रांची और पुरी में भारतीय रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) के दो होटलों के आवंटन अनुबंध में कथित अनियमितताएं पाई गई थी। CBI के आरोप के मुताबिक, नियम-कानून को ताक पर रखते हुए रेलवे का यह टेंडर विनय कोचर की कंपनी मेसर्स सुजाता होटल्स को दे दिए गए थे।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप