पटना, जेएनएन। बिहार के कई इलाकों में लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। खासकर पटना की स्थिति बेहद खराब हो चुकी है। यहां घरों में पानी घुस गया है तो वहीं सड़कें झील में तब्दील हो चुकी हैं। अस्पतालों में पानी घुस जाने से मरीजों के साथ ही परिजनों का भी बुरा हाल है। राज्य में आपातकाल जैसी स्थिति को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्य सरकार पर तंज कसा है और ट्वीट कर  सीएम नीतीश को खरी-खरी सुनाई है।

तेजस्वी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि नीतीश जी के अथक सुशासनी प्रयास से कथित स्मार्ट सिटी पटना के 80 फ़ीसदी घरों में बारिश और नालों का गंदा पानी घुस चुका है। सभी जन व्यवस्थाएं ध्वस्त है। 15 वर्ष से ड्रेनेज प्रोजेक्ट के नाम पर सुशासनी बाबुओं ने अरबों करोड़ डकार लिए।

हर बारिश में पटना डूब जाता है। सभी स्कूल, कॉलेज और अस्पतालों में मछली तैरने लग जाती है। और आदतन माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके बड़बोले मंत्रीगण जवाबदेही लेने की बजाय चमकी बुखार, बाढ़, सुखाड़ और जलजमाव के लिए चूहों या प्रकृति को दोषी ठहराने में व्यस्त हो जाते है।

साथियों, ठहर कर सोचिए और समझिए, क्या सरकार और उनके नियोजित बिकाऊ प्रवक्ताओं द्वारा हर बात पर विपक्ष को दोष देने से आपकी मूलभूत समस्याओं का समाधान हो रहा है? अपने आप से यह सवाल पूछकर फिर सरकार पर सवाल दागिए।

तेजस्वी ने बिहार की जनता से भी कहा कि सभी बिहारवासियों को सोचना चाहिए कि 15 वर्ष की इस सुशासनी सरकार ने विपक्ष को गाली देने के अलावा शिक्षा, स्वास्थ्य और विकास के नाम पर क्या किया है? हर तरफ़ भ्रष्टाचार का बोलबाला है। नीतीश जी की अगुवाई में संगठित भ्रष्टाचार चरम पर है।

सत्ताधारी कुनबा बताए, क्या यही नीतीश कुमार का “ठीके तो है” ब्रांड है?

तेजस्वी ने चिराग पर साधा निशाना, कहा-बालयोग शिविर जाना बंद करे

तेजस्वी ने अपने अगले ट्वीट में लोजपा नेता चिराग़ पासवान पर तंज कसा और उन्हें नसीहत देते हुए कहा कि आपने बीजेपी/आरएसएस के बालयोग शिविर में सीखी सूक्ष्म क्रियाओं को अपने घर में लागू करना शुरू कर दिया है। 

वो बालहठ के चलते पिता आदरणीय रामबिलास पासवान जी को राष्ट्रीय अध्यक्ष और चाचा श्री पशुपति पारस को प्रदेश अध्यक्ष से हटा रहे है। चिराग़ जी, RSS के बालयोग शिविर जाना बंद करे।

चिराग़ भाई, हठयोग रीढ़ की हड्डी को सीधी और सही रखने में मदद करता है। रीढ़ की हड्डी सीधी होने पर एकाग्रचित्त व्यक्ति सत्ता और डर के कारण BJP के आगे झुक अपने विचार, सिद्धांत, नीति  और धारा से समझौता नहीं करता। आदरणीय श्री रामबिलास पासवान जी से पूछना 2002 मे उन्होंने किस योग के चलते अटल सरकार से इस्तीफ़ा दिया था और किस योग के चलते मोदी सरकार में शामिल हुए? 

 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप