पटना [जेएनएन]। बिहार में कानून का डर नहीं बचा। पटना में राज्य सरकार के अधिकारी की घर में घुसकर हत्‍या कर दी गई। मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी अपने मंत्री सुरेश शर्मा को बचा रहे हैं। उन्हें मंत्री से इस्तीफा ले लेना चाहिए। इसके पहले वे मंत्री मंजू वर्मा को भी बचा रहे थे, लेकिन उन्‍हें इस्तीफा देना पड़ा। ये बातें बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्‍य सरकार को घेरते हुए कही।

तेजस्वी यादव ने कहा कि वे मंत्री सुरेश शर्मा के इस्‍तीफा के लिए मुख्‍यमंत्री को दो-चार दिन का समय दे रहे हैं। नीतीश कुमार अपनी अंतरात्‍मा को जगाएं और जो दोषी हैं उन सबों के खिलाफ कार्रवाई करें, चाहे वे उनके कितने भी करीबी क्यों न हों। वैसे, सीबीआइ जांच में सब सामने आ ही जाएगा।
तेजस्‍वी ने कहा कि बिहार में कानून का शासन नहीं रहा। दुष्‍कर्म हो रहे हैं। हत्‍याएं हो रही हैं। जनप्रतिनिधि भी मारे जा रहे हैं।
मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड पर तेजस्‍वी ने कहा कि इसपर तो सुप्रीम कोर्ट तक ने सरकार प्रायोजित होने की टिप्‍पणी की है। उन्‍होंने कहा कि जदयू कांड के दोषियों को बचाने में लगी है। तेजस्‍वी ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में मंत्री सुरेश शर्मा के इस्‍तीफे तथा इस्‍तीफा नहीं देने पर बर्खास्‍तगी की मांग रखी। कहा कि अगर मुख्‍यमंत्री अपने मंत्री सुरेश शर्मा से इस्तीफा नहीं लेते हैं तो राजद चुप नहीं बैठेगा। मंत्री को इस्तीफा देना ही होगा।
मंत्री सुरेश शर्मा द्वारा मानहानि का मुकदमा करने की धमकी की बाबत कहा कि वे डरने वाले नहीं हैं। मंत्री चाहें तो एक हजार करोड़ रुपए या इससे भी अधिक की मानहानि का मुकदमा कर सकते हैं।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप