पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने कोरोना संकट के समय सही से इलाज नहीं करने का आरोप लगाया है। उन्‍होंने बिहार के सीएम नीतीश कुमार के अलावा पीएम नरेंद्र मादी पर निशाना साधा। इसके अलावा उन्‍होंने पिछले दिनों पटना में जलजमाव को लेकर सुशील मोदी पर भी कटाक्ष किया है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने राज्य में कोरोना जांच पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों को पर्याप्त जांच एवं सुरक्षा उपकरण उपलब्ध नहीं कराए जाने से आम लोगों के इलाज पर इसका असर पड़ रहा है। उन्होंने पूछा कि डबल इंजन की सरकार क्या कर रही है? 

राजद नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पिछले 23 दिनों से लगातार आग्रह कर रहा हूं। अखबारों में प्रतिदिन ऐसी खबरें छप रही हैं। फिर भी सरकार की नजर नहीं जा रही है। बिहार के 50 सांसद हैं। छह मंत्री भी हैं। फिर भी कोई जरूरी सुरक्षा उपकरण नहीं मांग रहा। राजद नेता ने पूछा कि इस लचर व्यवस्था के लिए कौन जिम्मेवार है।

सीएम, डिप्टी सीएम और केंद्रीय मंत्री बिहार के हक में क्या मजबूती से मांग भी नहीं कर सकते हैं। तेजस्वी ने आग्रह किया कि लाचार-बीमार लोगों को भगवान के भरोसे नहीं छोडि़ए। केंद्र और राज्य सरकार मदद नहीं करेगी तो कौन करेगा। विपक्ष की हैसियत से हम सबसे जितना बन पा रहा है, उतना किया जा रहा है। हम सकारात्मक और सक्रिय सहयोग कर रहे हैं। किंतु आग्रह है कि गरीबों की मदद कीजिए। 

उधर, नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी पर भी हमला किया है। उन्‍होंने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि आप नकारात्मक और विध्वंसकारी विचारों से संक्रमित जान पड़ते हैं। विपदा की इस कठिन घड़ी में हमने सकारात्मक और सक्रिय समर्थन नहीं, बल्कि ज़मीन पर उतर कर सहयोग किया है। हम नहीं बिहार के माननीय मुख्यमंत्री कह रहे है कि केंद्र उनको अपेक्षित मदद नहीं कर रहा। अगर पढ़ना आता है तो ज़रा CM का मांग और पूर्ति संबंधित बयान पढ़ लें। 

उन्‍होंने कहा कि संसाधनों की कमी गिनाना विपक्ष का काम है। बिहार को जो थोड़ा बहुत मदद यानि 5 लाख PPE kit मांगने पर 4000 मिल रहा है, वह विपक्ष के दबाव से ही मिल रहा है। बाकी तो जनता देख चुकी है कि डबल इंजन सरकार के दोनों इंजन कबाड़ा हो चुके है। बिहार के लिए इस कठिन समय में आपकी हैसियत भी उजागर हो चुकी है। हमें और अधिक कैसे सहयोग करना है, उसकी आप हमें चेक लिस्ट दे दीजिए। उसका पालन करेंगे, लेकिन अहंकार छोड़ अपनी 15 साल की ख़ामियों और गलतियों को स्वीकार करना सीखिए। मत भूलिए जलजमाव में पड़ोसियों को छोड़, रात्रि में आप कैसे हाफ-पैंट में भागे थे। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस