पटना [जेएनएन]। राजद सुप्रीमो लालू यादव के बेटे तेजप्रताप यादव ने अपने परिवार में तकरार या दरार की बातों को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। तेजप्रताप ने कहा कि राजद अगर बिहार की सत्ता में आया तो उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव ही मुख्यमंत्री बनेंगे। ये बातें उन्होंने पटना में आयोजित धरना कार्यक्रम में कहीं। उन्होंने भाइयों में विवाद की बात को विरोधियों की अफवाह बताई। 

उन्होंने भाई-भाई में दरार की मनगढ़ंत कहानियों को चलाने वालों को खुले शब्दों में हड़काते हुए इसके पहले ट्वीट भी किया था। तेजप्रताप यादव ने बुधवार को ट्वीट कर कहा- 'लोगों के मुद्दे छोड़ कुर्सी पर बैठे अपने आकाओं के इशारे पर भाई-भाई में दरार की मनगढ़ंत कहानियां चलाने वाले चंद लोग कान खोलकर सुन लें। मेरी लड़ाई किसान, महिला और नौजवानों को ठगने वाली जनविरोधी सरकार से है और इनके खिलाफ जंग लड़ूंगा और इन्हें परास्त भी करूंगा। रोक सको तो रोक लो...' 

इसके बाद तेजप्रताप ने बीती रात एक और ट्वीट किया। इसमें उन्होंने नीतीश सरकार पर बरसते हुए लिखा- 'और गरीबों और मजलूमों पर बढ़ रहा अत्याचार है, अपराधियों की जयजयकार है, आम जनता लाचार है, गूंगी - बहरी ये सरकार है, नीतीशे कुमार है।' 

बता दें कि तेजप्रताप ने इन दिनों राजद कार्यालय में जनता दरबार भी लगाना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में उन्होंने मंगलवार को फरियाद सुनने के दौरान जदयू पर जमकर हमला बोला था। उन्होंने कहा ​था कि जदयू के नेताओं को जनता की समस्याओं पर ध्यान नहीं है। वे बस लालू फैमिली को परेशान करने में लगे हैं। लेकिन आने वाले चुनाव में जनता सबक सिखा देेगी। 

गौरतलब है कि तेजप्रताप लगभग डेढ़ माह तक गायब रहने के बाद एक बार फिर राजनीति की मुख्यधारा में आ गए हैं। बीते रविवार को उन्होंने फेसबुक लाइव करके भी विरोधियों को कड़ी चेतावनी दी थी। तब उन्होंने केवल विरोधी नेताओं को ही नहीं, ​बल्कि मीडिया तक को धमकी दे डाली थी। उन्होंने मीडिया की खबर लेते हुए कहा था कि 'चंद संघ व भाारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थकों' को अभी बिहार में जंगलराज क्यों नहीं दिख रहा है? 

बहरहाल तेजप्रताप यादव अपने पिता लालू यादव की स्टाइल में उतर आये हैं। वे कह भी रहे हैं कि पिता लालू यादव से उन्होंने आशीर्वाद लेकर राजनीति में फिर से कदम रखा है। वे भाई तेजस्वी के साथ मिलकर बिहार की अराजक सरकार को उखाड़ फेंकेंगे। कहा कि पूरे बिहार में डंवाडोल की स्थिति है। सुशासन में लूट, हत्या, बलात्कार व अपहरण की घटनाएं हो रही हैं। सुशासन की सरकार है, यह केवल बोलने से काम नहीं चलनेवाला है।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप