पटना जेएनएन : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव अचानक से पूरे रौ में आ गए हैं। दो दिन पहले वे पटना स्थित राजद कार्यालय पहुंच गए। अपने अंदाज में अपने समर्थकों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भला-बुरा कहा। पटना के गांधी मैदान में रैली करने का ऐलान किया। अब तेजप्रताप को लेकर बड़ी खबर आ रही है।

राजद से खेमे से मिल रही जानकारी के अनुसार, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव पटना से रांची के लिए रवाना हो गए हैं। वे पटना में किसी नजदीकी के यहां रुके हैं। वे राबड़ी आवास नहीं जा रहे हैं। साथ ही बिहार सरकार की ओर से उन्हें बंगला अलॉट नहीं किया गया है।

कहा जा रहा है कि कल पटना से निकलने के बाद तेजप्रताप यादव रात में जहानाबाद में रुक गये थे। बताया जाता है कि जहानाबाद में उनकी तबीयत बिगड़ गयी थी। जहानाबाद में ही उनका इलाज किया गया। ठीक होने के बाद तेजप्रताप यादव मंगलवार की सुबह रांची के लिए अपनी गाड़ी से रवाना हुए हैं। जानकारी के अनुसार वे अपने पिता लालू प्रसाद यादव से मिलेंगे। लेकिन, अब तक यह खुलासा नहीं हुआ है कि वे इसके लिए जेल प्रशासन से अनुमति ली है या नहीं।

दरअसल लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला में सजायाफ्ता हैं और तबीयत खराब रहने की वजह से उनका रांची के रिम्स में इलाज चल रहा है। पिछले पखवारे में उनकी तबीयत कुछ ज्यादा बिगड़ गयी थी. वे चल-फिर तक नहीं सकते थे। डॉक्टरों ने उन्हें अकेले टहलने से मना किया था। हालांकि सोमवार को रांची से खबर आयी थीे कि अब उन्होंने टहलना शुरू किया है।

लेकिन खास बात है कि जेल के नियमों के अनुसार रिम्स में इलाजरत लालू प्रसाद यादव से सप्ताह में तीन लोग ही मिल सकते हैं। इतना ही नहीं, जेल प्रशासन ने इसके लिए शनिवार का दिन निर्धारित किया है। ऐसे में तेजप्रताप मंगलवार को उनसे कैसे मिलेंगे, फिलहाल इस पर कुछ नहीं कहा जा सकता हैं।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप