पटना, जेएनएन। राजधानी में छठ की तैयारियां से चल रही हैं। कुर्जी मोड़ से गंगा घाट जाने के लिए पोकलेन द्वारा रास्ता बनाया जा रहा है। यहां दलदल इतना ज्यादा है कि छठ व्रतियों की गाड़ी फंसने का खतरा बने रहने की संभावना है। गंगा की धारा यहां तेज है लेकिन जलस्तर घट रहा है। इधर, छठ महापर्व की तैयारी में लगाए गए पदाधिकारियों एवं कर्मियों का सभी तरह का अवकाश रद कर दिया गया है। डीएम कुमार रवि ने इस आशय का निर्देश जारी किया है।

जिलाधिकारी कुमार रवि द्वारा जारी के गए आदेश में कहा गया है कि छठ पर्व की समाप्ति तक तैयारी के कार्य में संलग्न सभी क्षेत्रीय पदाधिकारियों, तकनीकी पदाधिकारियों एवं कर्मियों के सभी तरह के अवकाश रद किए जाते हैं। यदि अवकाश की आवश्यकता हो तो डीएम से स्वीकृति अनिवार्य होगी।

 

पानी घटने का इंतजार कर रहे मजदूर

गंगा सुरक्षा बांध गेट नंबर 93 पर जोर-शोर से काम चल रहा है। संपर्क पथ को अंतिम रूप दिया जा रहा है। लेकिन घाट किनारे दलदल के कारण मजदूर काम शुरू नहीं कर सके हैं। यहां पर व्रतियों के लिए सुरक्षा घेरा बनाने को मुजफ्फरपुर से मजदूर लाए गए हैं। राजगीर सहनी बताते हैं कि हमलोगों को नदी में बैरिकेडिंग कार्य के लिए हर साल ठेकेदार बुलाते हैं। करीब 11 हजार बल्ला गाड़कर तीन बांस से घेराबंदी करने को कहा गया है। 700 रुपये मजदूरी पर काम करने की बात तय हुई है। अभी दलदल अधिक है इसलिए पानी घटने का इंतजार कर रहे हैं।

गेट नंबर 88 से गंगा घाट तक आवागमन के लिए पहुंच पथ का निर्माण चल रहा है। बगल में गेट नंबर 93 घाट का भी यही हाल है। अभी किनारे तक पहुंचने के लिए दलदल नहीं हटाया जा सका है। गंगा पथ का यहां वर्कशॉप बना हुआ है। ब्रिज निर्माण के लिए कंक्रीट प्लेट से रास्ता और पार्किंग निर्माण में अभी बाधा दूर नहीं हुई है। हाइड्रा (भारी सामान ढोने वाला क्रेन) की मदद से कंक्रीट प्लेट को हटाने का काम चल रहा है।

नहीं साफ हुआ कीचड़ का पानी

पाटीपुल घाट जाने के लिए गंगा पथ के एक अंडरपास में जमा कीचड़ और पानी साफ नहीं हो सका है। यहां पश्चिमी अंडरपास से गंगा किनारे पहुंचने पर जल संसाधन विभाग द्वारा बीते साल बिछाए गए जीइओ बैग के कारण व्रतियों के लिए घाट अनुकूल बना हुआ है। नगर निगम की ओर से वाच टावर और लाइट टावर का काम चल रहा है। पार्किंग के लिए समतल करने में मशीन लगाए गए हैं। मीनार घाट से बिंदटोली तक तेजी से कटाव हो रहा है। कटाव वाले घाट पर व्रतियों नहीं जाएं, इसके लिए बैरिकेडिंग की जा रही है।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस