पटना [राज्य ब्यूरो]। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजनीतिक संन्यास तोड़ कर राजद की भजन मंडली में शामिल एक पूर्व सांसद को अयोध्या आंदोलन के समय लालकृष्ण आडवाणी की गिरफ्तारी और हजारों करोड़ के चारा घोटाला के चार मामलों में सजायाफ्ता लालू प्रसाद की गिरफ्तारी में कोई फर्क नजर नहीं आता। मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद को कड़ी सुरक्षा में देश की सर्वश्रेष्ठ एसी ट्रेन राजधानी एक्सप्रेस से इलाज के लिए दिल्ली ले जाया जाना भी उन्हें प्रताडऩा मालूम पड़ता है। उन्होंने कहा कि राजद के लोग आर्थिक अपराधी को पीडि़त की तरह प्रचारित करने का अभियान चला रखे है।

रामनवमी के बाद कुछ जगहों पर तनाव के माहौल पर मोदी ने कहा कि राज्य में जहां भी कानून व्यवस्था की समस्या पैदा हुई, वहां प्रशासन सख्ती से काम ले रहा है। लेकिन जिन्हें अमन चैन से ज्यादा वोट बैंक की चिंता है वे एकतरफा बयानबाजी कर सामान्य स्थिति बहाल करने में अपनी भूमिका का समुचित निर्वाह नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पक्ष विपक्ष की राजनीति से ज्यादा महत्वपूर्ण है, समाज का सौहार्द कायम रहना।

 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ravi Ranjan