पटना [राज्य ब्यूरो]। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व्यस्त दिनचर्या  के बावजूद बाढग़्रस्त क्षेत्रों का सर्वेक्षण करने बिहार आए मगर भ्रष्टाचार के मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद बेनामी संपत्ति बचाओ फ्लॉप रैली के लिए गांधी मैदान का चक्कर लगाते रहे।

उपमुख्यमंत्री मोदी ने बाढग़्रस्त क्षेत्रों का हवाई सर्वे के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद देते हुए कहा कि उन्होंने फौरीतौर पर 500 करोड़ रुपये की सहायता के एलान के साथ ही बिहार को हरसंभव मदद देने का भरोसा दिया है।

मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बिहार में बाढ़ से हुई तबाही के आकलन के लिए जल्द ही केंद्रीय टीम भेजने का आश्वासन दिया है। मोदी के अनुसार 13 अगस्त को मुख्यमंत्री के टेलीफोन पर बात करने के 24 घंटे केअंदर ही प्रधानमंत्री ने बिहार को एनडीआरएफ की 28 और सेना की 30 टीम के रूप में 1800 जवान, 200 मोटरबोट व सेना के दो हेलीकॉप्टर राहत व बचाव कार्य के लिए उपलब्ध कराए।

बाढग़्रस्त क्षेत्रों के हवाई सर्वे के बाद प्रधानमंत्री ने केंद्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को बिहार में क्षतिग्रस्त हुए राष्ट्रीय राजमार्गों की चिन्ता करने का निर्देश दिया। बाढ़ की वजह से जिनकी मृत्यु हुई हैं उनके परिजनों को राज्य सरकार द्वारा दिए जाने वाले 4 लाख रुपये के अतिरिक्त 2 लाख रुपये केंद्र सरकार की ओर से भी दिए जाएंगे।

उपमुख्‍यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने बाढ़ पीडि़त परिवारों के खाते में आरटीजीएस के जरिए 6 हजार रुपये भेजना शुरू कर दिया है। राज्य सरकार अपने खर्च से पंचायत स्तर पर शिविर लगाकर अब तक 12 लाख बाढ़ पीडि़त परिवारों को प्रति परिवार 6 किलो चावल, एक किलो दाल, 500 ग्राम सोयाबीन की बरी, नमक, हल्दी व हैलोजन टैबलेट बांट चुकी है।

उन्होंने कहा कि राज्य व केंद्र सरकार बाढ़ पीडि़तों की दिन- रात मदद में जुटी हैं मगर लालू प्रसाद को बेनामी सम्पति बचाने की चिन्ता है। सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मायावती और अरविन्द केजरीवाल जैसों ने लालू प्रसाद की बेनामी सम्पति बचाओ रैली में आने से मना कर पहले ही झटका दे दिया है। केवल खानापूर्ति के लिए कुछेक दलों के सी टीम के नेता लालू प्रसाद के साथ रैली में दिखेंगे। 

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप