पटना [जेएनएन]। बिहार के उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने चुनाव बाद पांच मिनट में प्रधानमंत्री चुन लेने के राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर तंज कसे हैं। उन्‍होंने नोटबंदी के विरोध पर भी लालू को आड़े हाथों लिया है। सुशील मोदी ने राजग में सीट बंटवारे की चर्चाओं पर भी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि इसपर न कोई औपचारिक फैसला हुआ है, न सीटों को लेकर कोई विवाद है।
पांच मिनट में पीएम चुनने के बयान को ले लालू पर कसे तंज
राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के इस दावा पर कि लोक सभा चुनाव के बाद विपक्ष पांच मिनट में अगला प्रधानमंत्री तय कर लेगा, सुशील मोदी ने तंज कसा है। उन्‍होंने कहा कि इसी तरह लालू ने पांच मिनट में राबड़ी देवी को मुख्‍यमंत्री बनाने का जो फैसला किया था, उसका परिणाम बिहार की पीढ़ियां भुगत रही हैं। सुशील मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व क्षमता के मुकाबले विपक्ष की 17 पार्टियों के पास इस पद के योग्य कोई प्रत्याशी ही नहीं है।
भ्रष्‍टाचारियों को बचाने के लिए नोटबंदी का विरोध
अपने एक अन्‍य ट्वीट में सुशील मोदी ने लिखा है कि लालू भ्रष्टाचारियों को बचाने के लिए नोटबंदी का विरोध कर रहे थे, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ा फैसला कर 2016 में नोटबंदी लागू की। इससे 18 लाख बैंक खाते जांच के दायरे में आए। इससे पांच लाख से ज्यादा मुखौटा कंपनियों पर ताला लगा और राजस्व संग्रह में 18 फीसद वृद्धि हुई। लेकिन, विपक्ष को नोटबंदी के फायदे नहीं दिखते।
राजग में सीट बंटवारे की चर्चाओं को किया खारिज
गुरुवार को राजग में सीट बंटवारे की चर्चाओं पर प्रतिक्रिया देते हुए सुशील मोदी ने कहा कि इसपर न तो कोई औपचारिक फैसला हुआ है, न सीटों को लेकर कोई विवाद है। राजग के सामने बिहार में सभी 40 सीटें जीतने का लक्ष्य है। सभी घटक दल इसी उदेश्य  पर काम कर रहे हैं। चिड़ियां की आंख देखने वालों को और कुछ नजर नहीं आता।
विदित हो कि गुरुवार को यह चर्चा तेजी से फैली कि आगामी लोक सभा चुनाव को लेकर राजग में सीटों का बंटवारा कर लिया गया है। सुशील मोदी ने ऐसे किसी निर्णय से इनकार कर दिया है।

Posted By: Amit Alok