पटना, जेएनएन। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मामले में पटना पुलिस की जांच की सबसे अहम कड़ी फिल्म डायरेक्टर और स्टोरी राइटर रूमी जाफरी ने कई राज बताये हैं। पटना पुलिस की पूछताछ में जाफरी ने बताया कि 12 जून तक सुशांत से उनकी बराबर बातचीत होते रही। सुशांत उनकी फिल्म की स्टोरी सुनते ही काम करने को तैयार हो गए थे। उनसे फिल्म को लेकर अक्सर शूटिंग और अन्य योजना पर चर्चा होती थी। जाफरी के मुताबिक सुशांत कुछ दवाएं खाते थे, पर उनकी स्थिति ऐसी नहीं थी कि ये कहा जाए कि वह डिप्रेशन में थे। पूछताछ में पता चला कि रूमी से सुशांत की 12 जून को भी फोन पर उनकी बात हुई थी। तब भी वह पहले तरह ही बात कर रहे थे। 

जिस तरह आदमी कहानी देखता, वैसे ही सोचता है

चार घंटे की पूछताछ में रूमी पटना पुलिस के हर सवाल का जवाब दिए। पटना पुलिस ने मुंबई पुलिस की जांच के बारे में भी पूछा। पुलिस सूत्रों की मानें तो उन्होंने जवाब दिया वह एक स्टोरी राइटर भी हैं। आदमी कई बार जिस तरह कहानी देखता है, वैसा ही सोचता है। हम भी सोचते थे। मुंबई पुलिस जो जांच कर रही थी, उसे सुनते थे, देखते थे। कभी भाई-भतीजावाद की बात आती थी तो कभी कुछ, लेकिन जैसे ही पटना पुलिस ने जांच शुरू की, कहानी कुछ और ही सामने आने लगी। 

यशराज फिल्म के सेट पर मिलते थे सुशांत और रिया

पूछताछ में पता चला कि फिल्म डायरेक्टर रूमी ने रिया को कॉस्ट किया था। यशराज फिल्म के बैनर तले 'शुद्ध देसी रोमांस' की शूटिंग हो रही थी, जिसमें सुशांत काम कर रहे थे और रिया भी यशराज के बैनर तले 'मेरे डैड की मारुति' की शूटिंग कर रही थी। दोनों अलग-अलग स्क्रीन में थे, लेकिन सेट पर उनकी बातचीत होते थी। रूमी ने और भी बहुत सारी बातें पटना पुलिस को बताईं। पुलिस की मानें तो कई लोग आठ-दस माह से दूर थे, लेकिन रूमी ही ऐसे थे, जो सुशांत से लगातार जुड़े रहे। 

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस