पटना । इंटर कंपार्टमेंटल परीक्षा में छात्र जूता-मोजा पहनकर नहीं जा सकेंगे। कदाचार मुक्त परीक्षा संचालन को लेकर बिहार बोर्ड की ओर से परीक्षा भवन में जूता-मोजा पहनकर जाने पर पूर्णत: रोक रहेगी। शुक्रवार को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने यह निर्देश वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान दिया। वह राज्य के सभी जिलों के एडीएम स्तर के अधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी तथा केंद्राधीक्षकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि परीक्षा केंद्र में छात्र कलम व प्रवेश पत्र के अतिरिक्त कुछ नहीं ले जा सकेंगे। परीक्षा भवन में केंद्राधीक्षक को छोड़कर शेष कोई भी कर्मी व पदाधिकारी मोबाइल नहीं ले जा सकेगा। परीक्षा केंद्रों पर आवश्यकतानुसार सीसीटीवी कैमरे के अतिरिक्त वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। छात्रों की दो स्तरों पर तलाशी ली जाएगी। परीक्षा केंद्र में पहुंचने के साथ ही फिर कमरे में प्रवेश के पहले तलाशी ली जाएगी। इंटरमीडिएट कंपार्टमेंटल-सह-विशेष परीक्षा, 2019 दो पालियों में होगी। यह परीक्षा एक मई से लेकर 10 मई तक आयोजित होगी। प्रथम पाली की परीक्षा सुबह 09:30 बजे से दोपहर 12:45 बजे तक आयोजित होगी। द्वितीय पाली की परीक्षा दोपहर 01:45 बजे से शाम 05:00 बजे तक होगी। परीक्षा प्रारंभ होने के बाद 15 मिनट का समय 'कूल ऑफ' टाइम के रूप में रहेगा। इस दौरान छात्र प्रश्नों को ध्यान से पढ़कर समझ सकते हैं। : कंपार्टमेंटल के लिए 86 हजार, विशेष परीक्षा में शामिल होंगे 6 हजार छात्र :

इंटरमीडिएट कंपार्टमेंटल-सह-विशेष परीक्षा, 2019 में सम्मिलित होने के लिए 92120 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसमें कंपार्टमेंटल के लिए कुल 86138 विद्यार्थी तथा विशेष परीक्षा के लिए कुल 5982 विद्यार्थी ने परीक्षा फॉर्म भरा है, इसके लिए पूरे राज्य में कुल 86 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

:10 व 11 मई को होगी बारकोडिंग :

परीक्षा समाप्ति के साथ ही बोर्ड की ओर से 10 मई से उत्तरपुस्तिकाओं की बारकोडिंग का काम कराया जाएगा। यह 11 मई तक पूरा हो जाएगा। 12 मई को सिवान, गोपालगंज, छपरा, मोतिहारी, बेतिया एवं वैशाली में होने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए यहां 14 एवं 15 मई को बारकोडिंग कराई जाएगी। बोर्ड अध्यक्ष ने सभी चीफ सेक्रेसी ऑफिसर को निर्देश दिया कि बारकोडिंग कार्य मात्र दो दिनों में करना है। ऐसे में उसी अनुपात में कर्मियों की व्यवस्था अविलंब कर लें। : 16 मई से होगा मूल्यांकन :

उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्याकन 16 मई से 19 मई, 2019 के बीच होगा। इसके लिए 20 जिलों में मूल्यांकन केंद्र बनाए गए हैं। बोर्ड अध्यक्ष ने संबंधित जिला शिक्षा पदाधिकारियों को प्रत्येक मूल्यांकन केंद्र पर दो-दो कंप्यूटर की व्यवस्था एवं चार-चार कंप्यूटर के जानकार शिक्षक व कर्मी की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया। : प्रायोगिक परीक्षा के लिए चार जिला में दो दिन मिला समय :

इंटरमीडिएट कंपार्टमेंटल सह विशेष परीक्षा के लिए छात्रों की प्रायोगिक परीक्षा 27 मई से 30 मई तक आयोजित होगी। 29 को लोकसभा चुनाव वाले जिले दरभंगा, मुंगेर, समस्तीपुर एवं बेगूसराय के छात्रों को दो दिन अतिरिक्त मिलेगा। इसके लिए बोर्ड ने दो मई तक प्रायोगिक परीक्षा के आयोजन का निर्देश दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस