पटना, जेएनएन। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एसटीईटी) की पुनर्परीक्षा 9 से 21 सितंबर तक आयोजित की जाएगी। इस बार परीक्षा ऑनलाइन ली जाएगी। इसके लिए समिति ने बेल्ट्रॉन को जिम्मेदारी सौंपी है। परीक्षा के लिए जिलाधिकारियों को मुख्य परीक्षा नियंत्रक बनाया गया है। राज्य के 12 जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर का कहना है कि एसटीईटी की पुनर्परीक्षा कराने के लिए समुचित व्यवस्था की गई है। एसटीईटी परीक्षा के लिए पटना के अलावा भोजपुर, नालंदा, औरंगाबाद, गया, समस्तीपुर, दरभंगा, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, वैशाली, पूर्णिया एवं छपरा में केंद्र बनाए गए हैं। बोर्ड अध्यक्ष का कहना है कि परीक्षा केंद्रों पर समुचित रूप से कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रशासन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। परीक्षा तीन पालियों में आयोजित की जाएंगी। मालूम हो कि इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थियों की विभिन्न विद्यालयों में शिक्षक के पद पर नियुक्ति होती है।

पूर्व की परीक्षा से सबक लेने की जरूरत 

बोर्ड अध्यक्ष ने संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों को सचेत किया कि पूर्व की परीक्षा से सबक लेने की जरूरत है। पूर्व में समुचित सावधानी नहीं बरतने के कारण ही परीक्षा रद करनी पड़ी थी। कई केंद्रों पर असामाजिक तत्वों द्वारा समस्या पैदा की गई थी। सभी केंद्रों पर शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त परीक्षा हो यह प्रशासन की जिम्मेदारी है। इसके लिए समुचित संख्या में पुलिस बल तैनात करने की जरूरत है। 

चप्पल पहनकर आने वालों को ही प्रवेश

परीक्षार्थियों को चप्पल पहनकर ही परीक्षा केंद्रों में प्रवेश करना होगा। जूता-मोजा पहनकर आने वाले परीक्षार्थियों को प्रवेश नहीं मिलेगा। 

एक घंटे पहले प्रवेश 

बोर्ड ने सभी परीक्षार्थियों को निर्देश दिया है कि परीक्षा से एक घंटे पहले केंद्रों में प्रवेश कर जाएं। प्रथम पाली की परीक्षा सुबह आठ बजे से प्रारंभ हो जाएगी। अत: परीक्षार्थियों को केंद्रों पर सुबह सात बजे से ही प्रवेश मिलने लगेगा। आधे घंटे तक प्रवेश दिया जाएगा। उसके बाद आने वालों को प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। उसी तरह दोपहर बारह बजे से शुरू होने वाली द्वितीय पाली की परीक्षा के लिए 11 बजे से ही प्रवेश दे दिया जाएगा। 11.30 बजे तक द्वितीय पाली के परीक्षार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा। तृतीय पाली की परीक्षा दोपहर चार बजे प्रारंभ होगी। इसके लिए 3 बजे से प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश पत्र देखकर ही प्रवेश दिया जाएगा। परीक्षा की अवधि ढाई घंटे निर्धारित की गई है।  

हर परीक्षा केंद्र पर लगेगा जैमर 

बोर्ड ने सभी परीक्षा केंद्रों पर जैमर लगाने का निर्देश दिया है। किसी परीक्षा केंद्र के अंदर परीक्षार्थी को ब्लू टूथ एवं इलेक्ट्रोनिक डिवाइस आदि ले जाने की अनुमति नहीं होगी। परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थी, वीक्षक एवं केंद्राधीक्षक भी मोबाइल का उपयोग नहीं करेंगे। प्रत्येक केंद्र पर सीसीटीवी से रिकॉर्डिंग कराई जाएगी। 

शारीरिक  दूरी का ख्याल रखना जरूरी 

परीक्षा आयोजित करने वाली एजेंसी को बोर्ड ने निर्देश दिया है कि कोरोना संक्रमण के मद्देनजर परीक्षार्थियों की शारीरिक दूरी का ख्याल रखा जाए। एजेंसी केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशों का पालन करेगी। प्रत्येक पाली की परीक्षा होने के बाद केंद्र को सैनिटाइज किया जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस