पटना [जेएनएन]। बिहार में दवा दुकानों की हड़ताल खत्‍म हो गई। पहले ही दिन हड़ताल खत्‍म होने से लोगों ने राहत की सांस ली है। बताया जाता है कि सरकार से आश्‍वासन मिलने के बाद बिहार केमिस्ट एवं ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने हड़ताल वापस लेने का निर्णय लिया है। बता दें कि बिहार में दवा दुकानों की राज्‍यव्‍यापी हड़ताल का बुधवार को पहला दिन था। लेकिन हड़ताल खत्‍म होने के बाद अब गुरुवार से पहले की तरह दवा दुकानें खुल जाएंगी। हालांकि, हड़ताल के दौरान भी इमरजेंसी सेवा के तहत अस्‍पताल परिसर की दवा दुकानें खुली हुई थीं, ताकि गंभीर मरीजों को कोई प्रॉब्‍लम नहीं हो।  

फार्मासिस्ट की नियुक्ति में छूट चाहते दवा दुकानदार

दरअसल, दवा दुकानदार फार्मासिस्ट की नियुक्ति में छूट चाहते हैं, जबकि सरकार ने हर दवा दुकान के लिए एक फार्मासिस्ट की नियुक्ति अनिवार्य कर दी है। इसे लेकर एसोसिएशन ने 22 से 24 जनवरी तक दवा दुकानें बंद रखने का निर्णय लिया था। राज्य में सात हजार फार्मासिस्ट हैं, जबकि 40 हजार से अधिक दवा दुकानें हैं।

फार्मासिस्ट के नाम पर शोषण कर रहे औषधि निरीक्षक

एसोसिएशन के अध्यक्ष परसन कुमार सिंह एवं महासचिव अमरेंद्र कुमार ने कहा कि दवा दुकानदारों का फार्मासिस्ट के नाम पर शोषण किया जा रहा है। औषधि निरीक्षक दवा दुकानदारों का आर्थिक रूप से दोहन कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग पहले दवा दुकानदारों को लाइसेंस जारी करता है, उसके बाद दोहन करता है। कहा कि अगर फार्मासिस्ट का अभाव है, तो दवा दुकानों का लाइसेंस कैसे जारी किया जा रहा है और इसके लिए सरकार अधिकारियों पर कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है? एसोसिएशन का कहना है कि सरकार को अन्य राज्यों की तरह दवा दुकानदारों को विशेष कोर्स कराकर दुकान चलाने की अनुमति प्रदान की जानी चाहिए।

एसोसिएशन ने की विशेष कोर्स कराने की मांग 

एसोसिएशन का कहना है कि सरकार को अन्य राज्यों की तरह दवा दुकानदारों को विशेष कोर्स कराकर दुकान चलाने की अनुमति प्रदान कर सकती है। कई राज्यों में इस तरह की समस्या है, लेकिन अधिसंख्य राज्यों ने इस समस्या का समाधान निकाल लिया है, पर बिहार सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है। इधर, एसोसिएशन ने बुधवार की रात बताया कि सरकार ने उनकी समस्‍याओं को दूर करने का आश्‍वासन दिया है। ऐसे में सरकार के आश्‍वासन के बाद हड़ताल को वापस ले लिया गया है। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस