पटना, जेएनएन। बिहार में माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के पदस्थापन का मानक बदल गया है। सरकार ने माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों के 2 पद को घटा दिया है। पूर्व में 1 प्रधानाध्यापक के अलावा 8 पद सृजित थे। अब नए मानक के तहत शिक्षकों के 6 पद रहेंगे।

डीईओ कार्यालय के सहयोग से की जाएगी कार्रवाई

इस मानक से अतिरिक्त शिक्षक जिन विद्यालयों में हैं उनका तबादला अपने ही नियोजन इकाई में जरूरत वाले विद्यालय में होगा। नियोजन इकाई के पैनल निर्माण समिति के सचिव स्थानातंरण सूची का अनुमोदन करेंगे। यह कार्रवाई डीईओ कार्यालय के सहयोग से की जाएगी।

शिक्षा विभाग के उप सचिव अरशद फिरोज के मुताबिक वर्तमान में माध्यमिक कक्षा के तहत 9 एवं 10 की पढ़ाई होती है। जबकि पूर्व में कक्षा 6 से 10 तक माध्यमिक कक्षाएं संचालित होती थीं। इसलिए शिक्षकों के मानक में बदलाव किया गया है।

विसंगतियां होंगी दूर, विद्यार्थियों को लाभ

शिक्षा विभाग ने वर्ष 2006 के बाद पहली बार शिक्षकों के पद सृजन और पदस्थापन के मानक में बदलाव किया है। इससे माध्यमिक शिक्षा में सुधार लाने और शिक्षकों की नियुक्ति विसंगति को दूर करने में मदद मिलेगी। अभी 5 हजार विद्यालय में शिक्षकों के कार्य बल में विसंगति है। जैसे, एक ही विषय के कई शिक्षक एक ही विद्यालय में तैनात हैं जबकि कई विद्यालय में उन विषयों के शिक्षक नहीं हैं। कहीं मानक से ज्यादा शिक्षक हैं तो कहीं पर कम। वहीं विभिन्न पंचायतों में नवसृजित 2963 माध्यमिक विद्यालयों, जहां इस सत्र से नौवीं की कक्षाएं शुरू होने वाली है, में शिक्षकों की कमी को दूर करने में भी मदद मिलेगी।

बदलाव के महत्वपूर्ण बिंदू

* हिन्दी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान एवं द्वितीय भाषा(संस्कृत, उर्दू, मैथिली के अलावा वो भाषा जो राज्य सरकार से मान्य है) के छह शिक्षक होंगे तैनात

* एक शारीरिक शिक्षा विषय के शिक्षक का पद सृजन व पदस्थापन होगा

* एक कक्षा में 60 विद्यार्थी से अधिक का नामांकन होने पर दूसरा सेक्शन होगा

* विद्यालय में जरूरत पडऩे पर शिक्षकों का आकलन कर पदों का हो सकेगा सृजन

* यदि किसी विषय में तीन शिक्षक की आवश्यकता हो तो डीईओ के माध्यम से माध्यमिक शिक्षा निदेशक से पद सृजन की लेनी होगी अनुमति

* पदस्थापित शिक्षकों के स्थानान्तरण में वरीयता का ध्यान रखा जाएगा

* दिव्यांग व महिला शिक्षक की इच्छा से होगा तबादला

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस