पटना, जागरण संवाददाता। रामकृष्णानगर थाने के तीन जवानों को एक होटल मालिक से चार हजार रुपये रिश्वत लेने और दस हजार रुपये प्रतिमाह रंगदारी मांगने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। तीनों के उसी थाने के हाजत में बंद कर दिया गया, जहां इनकी तैनाती हुई थी। तीनों के खिलाफ रंगदारी, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तरह प्राथमिकी दर्ज की गई है। एसएसपी उपेंद्र शर्मा (SSP Upendra Kumar Sharma) ने बताया कि तीनों को मंगलवार को काेर्ट में पेश करने के बाद जेल भेजा जाएगा। गिरफ्तार पुलिसकर्मियों में हवलदार उमेश पासवान, सिपाही संजीव ठाकुर व संजीव राम शामिल है।

एसएसपी को मिली थी होटल में तोड़फोड़ की सूचना 

किसी ने एसएसपी को फोन कर बताया कि रामकृष्णानगर के जकरियापुर में स्थित एक होटल में कुछ लोग झगड़ा कर रहे हैं और तोड़फोड़ कर रहे है। एसएसपी ने रामकृष्णानगर थानेदार को कॉल कर कार्रवाई का निर्देश दिया। थानेदार किसी अन्य मामले में बाहर थे। थानेदार ने थाने में तैनात तीन जवानों को घटनास्थल पर भेज दिया। तीनों जवान होटल पहुंच गए। जांच में पता चला कि होटल में एक युवक कुछ दिनोंं से ठहरा था। कमरा खाली करने के बाद किराया नहीं दे रहा था। किराया मांगने पर उसने चार पांच लड़कों को बुलाकर होटल में तोड़फोड़ कर दी। तीनों जवानों ने  पूरा मामला समझने के बाद होटल मालिक से कहा कि नाश्ता के लिए चार हजार रुपये दो। होटल मालिक सहम गया और उन्हें रुपये दे दिए। इसके बाद तीनों जवान होटल मालिक को बोले हर महीने दस हजार रुपये रंगदारी देना होगा। यह बोलकर तीनों वापस थाने में आ गए। 

पीड़ि‍त ने एसएसपी को फोन सुनाई आपबीती 

तीनों जवानों के जाने के बाद पीड़ित ने एसएसपी को फोन कर आपबीती बताई। यह सुनकर एसएसपी खुद ही मामले की जांच करने रामकृष्णा नगर थाना पहुंच गए। अचानक एसएसपी के थाना पहुंचने से हड़ंकंप मच गया। वह थानेदार को फटकार लगाते हुए तुरंत तुरंत तीनों जवानाें को गिरफ्तार कर जेल भेजने का निर्देश दिया।

 

Edited By: Vyas Chandra