बेगूसराय, जेएनएन। मटिहानी थाना क्षेत्र के खरीदी गांव में स्प्रिट मिली शराब पीने से दो मजदूर की मौत हो गई। वहीं दो मजदूरों का इलाज गंभीर हालत में चल रहा है। मृतक की पहचान खरीदी निवासी उपेन्द्र साह के 40 वर्षीय पुत्र बहादुर साह, स्व. गुलटन राम के 35 वर्षीय पुत्र मुरारी राम के रूप में हुई है।

चारों ने सोमवार की शाम रामपुर चौक स्थित एक होमियोपैथिक चिकित्सक से शराब के विकल्प के रूप में बेचे जाने वाली दवा खरीदी थी। जिसे पीने के बाद बहादुर साह मुंगेर जिले के बड़हारा स्थित बहन के यहां एक मांगलिक समारोह में भाग लेने चले गए। वहां हालत बिगडऩे पर रिश्तेदारों ने जमालपुर पीएचसी ले गए जहां इलाज के क्रम में मौत हो गई। इधर, गांव में रह गए तीनों लोगों ने भी उल्टी, हाथ पैर में तेज दर्द और आंखों से कुछ दिखाई नहीं देने की शिकायत की। तीनों की हालत बिगडऩे पर बेगूसराय के हेमरा रोड स्थित एक निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया जहां मुरारी राम की मौत हो गई। वहीं स्व. रीतलाल राम के 65 वर्षीय पुत्र हरदेव राम व श्री साह के 35 वर्षीय पुत्र कांग्रेस साह का इलाज किया जा रहा है।

शराब के विकल्प के रूप में मात्र 25 रुपये में उपलब्ध थी नशीली दवा
स्थानीय लोगों ने बताया कि रामपुर चौक स्थित झोलाछाप होमियोपैथिक चिकित्सक मो. इसराइल द्वारा शराब के विकल्प के रूप में 25 रुपये में 50 एमएल दवा दी जाती थी। मजदूर वर्ग के दर्जनों लोग इसके रोज के ग्राहक थे। इसे पीते ही लोग मदहोश हो जाते। सस्ते मेंं ऐसा नशा खरीद कई इसके आदी बन गए थे।

गुस्साए लोगों ने की तोडफ़ोड़, सड़क जाम
एक गांव में दो-दो लोगों की मौत व दो की हालत बिगडऩे से आक्रोशित ग्रामीणोंं ने रामपुर चौक स्थित चिकित्सक मो. इसराइल की क्लीनिक पर धावा बोल तोडफ़ोड़ की। इसके बाद मटिहानी थाने के पास शव रख कर मटिहानी बेगूसराय पथ को जाम कर दिया। घंटों सड़क जाम के बाद मौके पर पहुंची पुलिस व प्रखंड के प्रशासनिक पदाधिकारियों ने मौके पर पारिवारिक लाभ योजना से पीडि़त परिवारों को 20-20 हजार रुपये का चेक सौंपा। लोग आपदा से चार -चार लाख रुपये दिलवाने की मांग कर रहे थे। अधिकारियों ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद अनुसंशा का आश्वासन देकर आवागमन चालू कराया है।

ड्रग इंस्पेक्टर ने की जांच, दवा जब्त, सौंपेंगे रिपोर्ट
होमियोपैथिक दवा के नाम पर कऊछ और बेचे जाने के खुलासे के बाद जिला प्रशासन ने आनन-फानन में ड्रग इंस्पेक्टर दयानंद कुमार व संजीव कुमार को मौके पर भेजा। दोनों अधिकारियों ने झोलाछाप चिकित्सक द्वारा शराब के विकल्प के रूप में बेची जा रही दवा का सैंपल जब्त किया है। मामले की जांच कर रिपोर्ट तलब किया गया है। इस मामले में आरोपी चिकित्सक के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

पोस्टमार्टम के बाद होगा मामले का खुलासा : डीएसपी
सदर डीएसपी राजन सिन्हा ने बताया कि प्रथम ²ष्टया दोनों की मौत झोला छाप चिकित्सक से दवा लेने से होना प्रतीत होता है। मामले की जांच के लिए ड्रग इंस्पेक्टर को मौके पर भेजा गया है। कहा, डा. शशिभूषण शर्मा के यहां जांच के दौरान दोनों ने दवा पीने की बात स्वीकार नहीं की है। दो में से एक मरीज को घर भेजा जा चुुका है। वहीं दूसरे ने तीन दिन से हिचकी होने की शिकायत पर दवा लेने की बात कही है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Akshay Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप