पटना, जेएनएन। देश के सबसे प्रदूषित शहरों में तीसरे स्थान पर आने के बाद अब बिहार की राजधानी में भी लोगों ने मास्क लगाकर चलना शुरू कर दिया है। एेसे में बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए परिवहन विभाग ने मंगलवार से विशेष वाहन जांच अभियान शुरू किया। सुबह दस बजे से शाम तक चले अभियान के दौरान 245 वाहनों की जांच की गई, जिसमें 22 वाहनों से जुर्माना वसूला गया और प्रदूषण फैलाते 8 वाहनों को जब्त करने की कार्रवाई की गई।

ऑटो और सिटी बस के परिचालन पर लगाई जाएगी रोक

परिवहन सचिव संजय अग्रवाल ने बताया कि वायु प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए ऑटो रिक्शा, सिटी बसों में केरोसिन तेल के उपयोग की भी शिकायत मिल रही है। ऐसे वाहनों की मोबाइल पाल्यूशन वैन से ऑन स्पॉट जांच की गई। प्रदूषण फैलाने वाले ऑटो और सिटी बस के परिचालन पर कार्रवाई करते हुए रोक लगाई जाएगी। इसके लिए विशेष जांच अभियान एक सप्ताह तक लगातार चलाया जाएगा।

वीडियो बनाकर भेजें

प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर कार्रवाई के लिए आम लोग भी संबंधित वाहन का वीडियो बना कर डीटीओ और एमवीआइ के मोबाइल नंबर पर भेज सकते हैं। साथ ही जिन वाहनों का नंबर प्लेट नहीं है उसकी भी वीडियो बना कर भेज सकते हैं। उन वाहनों के वाहन मालिक पर कार्रवाई की जाएगी।

राजधानी में विशेष जांच अभियान चलाने के लिए अलग-अलग चार टीम गठित की गई है। हर टीम में एमवीआई, ईएसआई, रोड सेफ्टी की टीम और यातायात पुलिस रहेगी। टीम के साथ मोबाइल पॉल्यूशन जांच वैन को भी रखा गया है। हर दिन अलग-अलग जगहों पर जांच टीम रहेगी।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस