पटना। पाटलिपुत्र कालोनी को जलजमाव से बचाने के लिए पटना नगर निगम विशेष उपाय करेगा। कालोनी के पानी को नाट्रोड्रम स्कूल के पास एकत्र किया जाएगा। फिर इसे पाटलिपुत्र इंडस्ट्रियल एरिया के रास्ते कुर्जी नाला पहुंचाया जाएगा।

नगर आयुक्त अनिमेश कुमार पराशर ने जल निकासी की व्यवस्था के लिए सोमवार को पाटलिपुत्र कालोनी का निरीक्षण किया। कालोनी में चारो तरफ कच्चे नाले बनाए गए हैं। कई घरों से वाहन निकालने में परेशानी हो रही है। नगर आयुक्त ने यथाशीघ्र जगह-जगह पाइप डालकर रास्ता बनाने का निर्देश दिया। नगर आयुक्त ने बताया कि कालोनी के दोनों सिरे ऊंचे हैं। इस कारण पंप से पानी की निकासी की जाएगी। इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। कच्चे नाले के कारण परेशानी दूर करने के लिए कई स्थानों पर पाइप डाला जाएगा।

नगर आयुक्त ने बताया कि पाटलिपुत्र कालोनी से इस वर्ष मानसून में वैकल्पिक व्यवस्था के तहत पानी की निकासी होगी। बारिश होने के बाद जल्द से जल्द पानी निकासी की तैयारी है।

नगर आयुक्त ने बताया कि पाटलिपुत्र कालोनी से स्थायी तौर पर जलनिकासी की योजना बनाई जा रही है। योजना की स्वीकृति मिलने के बाद स्थायी तौर पर जलनिकासी की व्यवस्था हो जाएगी। निरीक्षण के दौरान कार्यपालक पदाधिकारी प्रतिभा सिन्हा, कार्यपालक अभियंता संजीत कुमार, नगर प्रबंधक कंचन कुमारी, मुख्य सफाई निरीक्षक शैलेंद्र कुमार, कनीय अभियंता रोशन कुमार आदि मौजूद थे।

--------------

बादशाही पइन के अवरोध को दो दिन के अंदर करें दूर : नगर आयुक्त

जागरण संवाददाता, पटना : जल संसाधन विभाग बदशाही पइन में ज्ञानगंगा और चमनचक के पास पानी रोक कर निर्माण कार्य करा रहा है। नगर आयुक्त अनिमेश कुमार पराशर ने बदशाई पइन के निरीक्षण के दौरान इन अवरोधों को दो दिन के अंदर हटाने का आदेश दिया। उन्होंने अभियंताओं को जमकर फटकार लगाई।

नगर आयुक्त ने बताया कि पटना नगर निगम युद्ध स्तर पर मानसून की तैयारियां कर रहा है। नाला उड़ाही के साथ जलनिकासी के लिए विशेष टीम की तैनाती की गई है। इसी क्रम में सोमवार को कंकड़बाग अंचल के बादशाही पइन में पानी के अवरूद्ध होने की सूचना प्राप्त हुई। नगर आयुक्त ने बताया कि कई स्थानों पर पइन को बेहतर ढंग से साफ नहीं की गई है। निगम की टीम इसकी लगातार निगरानी करेगी। निरीक्षण के दौरान कंकड़बाग अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी शशिभूषण, नगर प्रबंधक प्रकाश कुमार आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran