पटना, जेएनएन। मंगलवार को लोदीपुर स्थित पटना पुलिस लाइन से विदेशी शराब की खेप के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया गया। आरोपितों की पहचान नागेंद्र राय और चंदन के रूप में हुई है। चंदन एक महिला सिपाही का बेटा है, जो लाइन परिसर में ही रहता है। वहीं, नागेंद्र की लाइन परिसर में खटाल है। बुद्धा कॉलोनी थानाध्यक्ष रवि शंकर सिंह ने बताया कि 32 बोतल शराब जब्त की गई है।

पुलिस लाइन में आकर शराब ले जाते थे ग्राहक

एएसपी स्वर्ण प्रभात को गुप्त सूचना मिली थी कि पुलिस लाइन में शराब की खेप रखी गई है। सूचना का सत्यापन कराने के बाद उन्होंने दलबल के साथ धावा बोल दिया। खटाल के पास ही चंदन और नागेंद्र ने झोले में शराब की बोतलें रखी थीं। हैरानी की बात है कि वे शराब को छिपा कर भी नहीं रखते थे। बकायदा लाइन परिसर में ग्राहक आकर शराब ले जाते थे। सूत्रों की मानें तो कुछ और सिपाहियों के नाम भी सामने आए हैं। नागेंद्र पूर्व में भी गिरफ्तार हो चुका है।

पूर्व में भी मिल चुकी है शराब की खेप व बड़ी संख्या में खाली बोतलें अक्टूबर 2018 में भी पुलिस लाइन में शराब की बोतलें मिलने से हड़कंप मच गया था। विश्वकर्मा मंदिर के पीछे शराब की बोतलें थीं। तत्कालीन एसएसपी मनु महाराज ने बताया था कि मामले की उच्चस्तरीय जांच की जा रही है। कुछ माह बाद एक बार फिर शराब पीकर हंगामा मचाना पुलिसकर्मियों को महंगा पड़ गया जिसमें दो को नौकरी से हाथ भी धोना पड़ा। दोनों पुलिस कर्मी एसोसिएशन से जुड़े थे। तत्कालीन एसएसपी ने शराब पीते हुए दोनों को गिरफ्तार किया था। उनके खिलाफ बुद्धा कालोनी थाने में केस दर्ज किया गया था। सूत्रों की मानें तो पटना पुलिस लाइन में शाम होते ही जाम लड़ना शुरू हो जाता है। लाइन में बाहरी लोगों का भी आना जाना लगा रहता है।

शराब तस्करी में जेल गए सिपाही की हो रही खोज

पुलिस लाइन में कार्रवाई के दौरान हड़कंप मचा रहा। एक सिपाही की तलाश की जा रही थी, जिसे शराब की तस्करी के आरोप में जेल भेजा गया था। वह वर्तमान में जमानत पर छूट गया है। वहीं, शराब का सेवन कर हंगामा करने के मामले में ट्रैफिक के एक जवान का भी नाम सामने आया है।

एटीएम के पास हमेशा फेंकी रहती हैं शराब की बोतलें

पुलिस लाइन में रहने वाले सूत्रों की मानें तो परिसर के कोने में अक्सर शराब की खाली बोतलें फेंकी मिल जाती हैं। एसबीआइ एटीएम की तरफ लोग खाली बोतलों को छिपा देते हैं और ग्रिल की तरफ से कचरा बिनने वाले उन्हें उठाकर ले जाते हैं। दो-तीन तक कचरा वाला नहीं आता है तो बोतलों का अंबार लग जाता है। हाल में एक वरीय अधिकारी के निर्देश पर पूरे परिसर की सफाई कराई गई थी।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस