पटना । राजधानी पटना को सारण से जोड़ने वाला जेपी सेतु हालिया दिनों में सुसाइड प्वाइंट बनता जा रहा है। एक बार फिर डिप्रेशन की शिकार किशोरी ने जेपी सेतु से गंगा में छलांग लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। घटना बुधवार दोपहर लगभग दो बजे की है। वह तो अच्छा हुआ कि मौके पर मौजूद लोगों की नजर पड़ गई और रेलिंग पर चढ़ने के क्रम में उसे पकड़कर उतार लिया गया। इसके बाद थाना पुलिस के हवाले कर दिया गया। थाना पुलिस ने किशोरी को परिजनों के हवाले कर दिया। साथ ही मनोचिकित्सक से इलाज कराने की सलाह दी।

बेगूसराय की रहने वाली 16 वर्षीय किशोरी बोरिंग रोड में माता-पिता के साथ रहती है। उसकी मां दाई का काम करती है, जबकि पिता एक क्लब के केयरटेकर हैं। मंगलवार की दोपहर किशोरी घर में बगैर किसी को बताए जेपी सेतु पर पहुंची और पाया नंबर छह से गंगा में कूदने का प्रयास करने लगी। वहां से गुजर रहे लोगों ने उसे देख लिया। उन्होंने शोर मचाया तो कुछ स्थानीय लोग भी दौड़ पड़े और उसे बचा लिया। हालांकि किशोरी आत्महत्या करने की बात से इन्कार कर रही थी। वह लोगों को देखकर हंसने लगी। इसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। पुलिस को उसकी मानसिक स्थिति सही नहीं लगी, लेकिन उसने मां का मोबाइल नंबर बता दिया। पुलिस की सूचना पर परिजन दीघा थाने पहुंचे और बताया कि मैट्रिक की परीक्षा में फेल होने के कारण वह विक्षिप्त की तरह हरकतें करने लगी थी।

गौरतलब है कि तीन दिन पहले दोनों किडनी फेल होने पर आर्थिक तंगी से जूझ रहे सारण जिले के 30 वर्षीय राजीव ने जेपी सेतु से गंगा में छलांग लगा दी थी। एसडीआरएफ ने नदी में शव की तलाश की, लेकिन वह अब तक नहीं मिला है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस